Author: admin

उन्नीसवीं शताब्दी में राष्ट्रीय चेतना का उद्भव और विकास

इसको पढ़ने के बाद आपः यह जान पाएँगे कि औपनिवेशि शासाने भारतीय जनता के विभिन्न वर्गों को किस प्रकार प्रभावित […]...

साम्राज्यवाद तथा उपनिवेशवाद : सैद्धान्तिक परिप्रेक्ष्य

इसमें साम्राज्यवाद तथा उपनिवेशवाद के स्वरूप पर विस्तृत चर्चा प्रस्तुत की गयी है। साथ ही यह प्रयत्न किया गया है […]...

नीतिशास्त्र के आयाम

नीतिशास्त्र के आयाम वर्णनात्मक नीतिशास्त्र मानदंडपरक नीतिशास्त्र परानीतिशास्त्र अनुप्रयुक्त नीतिशास्त्र वर्णनात्मक नीतिशास्त्र यह समाज में प्रचलित रीति-रिवाजों, लोगों की मान्यताओं […]...

शेल कंपनियां (Shell Companies)

शेल कंपनियां सामान्य तौर पर शेल कंपनियां ऐसी कंपनियां होती हैं जो सक्रिय व्यावसायिक गतिविधियों या पर्याप्त संपत्तियों के बिना […]...

निबंध: सोशल मीडिया और इसके दुष्परिणाम (Essay on Social media in Hindi)

प्रसिद्ध व्यक्तित्वों के कथन (Quotes by Famous Personalities) सोशल मीडिया ने हमारे संवाद को लोकतांत्रिक बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई […]...