Category: नीतिशास्त्र

लोक सिविल सेवा के मूल्य और लोक प्रशासन में नैतिकता: स्थिति और समस्याएँ

लोक प्रशासन सरकार की कार्यपालिका शाखा का प्रतिनिधित्व करता है। यह मूलतः सरकारी गतिविधियों के प्रभावकारी निष्पादन से संबंधित तंत्र […]...

सरकारी और निजी संस्थानों में नैतिक सरोकार और दुविधाएँ

दुविधा एक प्रकार की समस्या होती है जिसके दो समाधान अथवा दो विकल्प होते हैं और दोनों कोई भी व्यावहारिक तौर […]...

नैतिक मार्गदर्शक के स्रोत रूप में नियम, कानून, व्यवस्था एवं अंतरात्मा 

व्यक्ति जब कोई कार्य करता है तो वह यह भी जानना चाहता है कि उसका यह कार्य नैतिक है या […]...

अंतरराष्ट्रीय नैतिकता (International Ethics)

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न देशों के बीच पारस्परिक संबंधों एवं हर प्रकार के आदान-प्रदान का वैश्विक समुदाय से प्रत्यक्ष संबंध […]...

अंतरराष्ट्रीय निधिकरण (वित्तययन) से जुड़े नैतिक मुद्दे-सौपाधिकता (शर्त सहित)

अंतरराष्ट्रीय निधिकरण (वित्तययन ) से जडे नैतिक मुद्दों पर विचार करने से पहले ‘सोपाधिकता’ अर्थात् ‘शर्त सहित’ शब्द को समझना […]...

नीतिशास्त्र एवं मानवीय सह-संबंध / Ethics and Human Interface

नीतिशास्त्र रीति, प्रचलन या आदत का व्यवस्थित अध्ययन है। प्रचलन, रीति या आदत मनुष्य के वे कर्म हैं जिनका उसे अभ्यास […]...
error: Thanks for visiting IASbook