UPSC पाठ्यक्रम – मुख्य परीक्षा : सामान्य अध्ययन और निबंध

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा मुख्य परीक्षा का पाठ्यक्रम

  • सिविल सेवा मुख्य परीक्षा में विषयों का बँटवारा अनिवार्य एवं वैकल्पिक विषयों  के रूप में किया गया है।
  • अनिवार्य विषयों में निबंध, सामान्य अध्ययन के चार प्रश्नपत्र, अंग्रेजी भाषा (क्वालिफाइंग) एवं हिंदी या संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल कोई भाषा (क्वालिफाइंग) तथा वैकल्पिक विषय के अंतर्गत विज्ञप्ति में दिये गए विषयों में से अभ्यर्थी द्वारा चयनित कोई एक वैकल्पिक विषय शामिल है।

मुख्य परीक्षा की वर्तमान प्रणाली

प्रश्नपत्र-1 निबंध 250 अंक
प्रश्नपत्र-2 सामान्य अध्ययन-1: (भारतीय विरासत और संस्कृति, विश्व का इतिहास एवं भूगोल तथा समाज) 250 अंक
प्रश्नपत्र-3 सामान्य अध्ययन-2: (शासन व्यवस्था, संविधान, राजव्यवस्था, सामाजिक न्याय तथा अंतर्राष्ट्रीय संबंध) 250 अंक
प्रश्नपत्र-4 सामान्य अध्ययन-3: (प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव-विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा तथा आपदा- प्रबंधन) 250 अंक
प्रश्नपत्र-5 सामान्य अध्ययन-4: (नीतिशास्त्र, सत्यनिष्ठा और अभिवृत्ति) 250 अंक
प्रश्नपत्र-6 वैकल्पिक विषय- प्रश्नपत्र-1 250 अंक
प्रश्नपत्र-7 वैकल्पिक विषय- प्रश्नपत्र-2 250 अंक
प्रश्नपत्र-‘क’ क्वालिफाइंग-1  अंग्रेज़ी भाषा 300 अंक**
प्रश्नपत्र-‘ख’ क्वालिफाइंग-2 हिंदी या संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल कोई भाषा 300 अंक**
उप-योग (लिखित परीक्षा) 1750 अंक
व्यक्तित्व परीक्षण 275 अंक
कुल योग 2025 अंक

नोटः

  • ** दोनों क्वालिफाइंग प्रश्नपत्रों के अंक योग्यता निर्धारण के लिये नहीं जोड़े जाते हैं।
  • क्वालिफाइंग’ प्रकृति के दोनों प्रश्नपत्र 300300 अंकों के होते हैं। भारतीय भाषा में न्यूनतम अर्हता अंक 25% (75) तथा अंग्रेज़ी में भी न्यूनतम अर्हता अंक 25% (75) निर्धारित किये गए हैं।
  • मुख्य परीक्षा के प्रश्नपत्र अंग्रेज़ी और हिंदी दोनों भाषाओं में साथ-साथ प्रकाशित किये जाते हैं, पर उम्मीदवारों को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल 22 भाषाओं में से किसी में भी उत्तर देने की छूट होती है। वे सिविल सेवा परीक्षा के फॉर्म में मुख्य परीक्षा हेतु जिस भाषा को अपने माध्यम के तौर पर अंकित करते हैं, उन्हें मुख्य परीक्षा के सभी प्रश्नपत्रों के उत्तर उसी भाषा में लिखने होते हैं। केवल साहित्य के विषयों में यह छूट है कि उम्मीदवार उसी भाषा की लिपि में उत्तर लिखता है, चाहे उसका माध्यम वह भाषा न हो। उदाहरण के लिये, अंग्रेज़ी माध्यम का उम्मीदवार अगर वैकल्पिक विषय के रूप में हिंदी साहित्य का चयन करता है तो उसके उत्तर वह देवनागरी लिपि में लिखेगा। शेष मामलों में, इसकी अनुमति नहीं है कि उम्मीदवार अलग-अलग प्रश्नपत्रों के उत्तर अलग-अलग भाषाओं में दे (हालाँकि कुछ राज्यों के लोक सेवा आयोगों ने ऐसी अनुमति दी हुई है)।

प्रश्नपत्र -1: निबंध

उम्मीदवार को एक विनिर्दिष्ट विषय पर निबंध लिखना होगा| विषयों के विकल्प दिये जायेंगे| उनसे आशा की जाती है कि अपने विचारों को निबंध के विषय के निकट रखते हुए क्रमबद्ध करें तथा संक्षेप में लिखें| प्रभावशाली एवं सटीक अभिव्यक्तियों के लिये श्रेय दिया जायेगा|

नोट: निबंध का प्रश्नपत्र मुख्यत: दो भागों (मूर्त एवं अमूर्त रूप) में विभाजित रहता है। प्रत्येक भाग में दिये गए 4 विकल्पों में से एक-एक विकल्प का चयन करते हुए कुल दो निबंध (प्रत्येक 125 अंक) लिखने होते हैं। प्रत्येक निबंध के लिये निर्धारित शब्द सीमा लगभग 1000-1200 होती है।

प्रश्नपत्र -2

सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र-1
भारतीय विरासत और संस्कृति, विश्व का इतिहास एवं भूगोल और समाज
GS-Paper 1
Indian Heritage and Culture, History and Geography of the World and Society
क्र.सं. विषय S.No. Topic
1. भारतीय संस्कृति में प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के कला के रूप, साहित्य और वास्तुकला के मुख्य पहलू शामिल होंगे।

इंडियन आर्ट फॉर्म्स

साहित्य

स्थापत्य कला/वास्तुकला

1. Indian culture will cover the salient aspects of Art Forms, Literature and Architecture from ancient to modern times.

Indian Art Forms

  • Indian Paintings
  • Classical Dance Forms
  • Folk Dance Forms
  • Classical Music
  • Puppetry
  • Pottery
  • Drama/Theatre
  • Martial Arts

Literature

  • Ancient Indian Literature
  • Classical Sanskrit Literature
  • Literature in Pali and Prakrit
  • Early Dravidian Literature
  • Medieval Literature
  • Women Poets of Bhakti
  • Trends in Medieval Literature
  • Modern Indian Literature

Architecture

  • Harappan Architecture
  • Temple Architecture
  • Cave Architecture
  • Indo-Islamic Architecture
  • Medieval Architecture
  • Modern Architecture
  • Contribution of Buddhism & Jainism to the
  • Development of Indian Architecture
  • Rock Cut Architecture
  • Colonial Architecture
2. 18वीं सदी के लगभग मध्य से लेकर वर्तमान समय तक का आधुनिक भारतीय इतिहास- महत्त्वपूर्ण घटनाएँ, व्यक्तित्व, विषय।

1857 तक

2. Modern Indian history from about the middle of the eighteenth century until the present- significant events, personalities, issues.

Till 1857

  • Socio-economic Condition of People
  • European Penetration of India
  • British Conquest of India
  • Reason for decline of Mughal Empire
  • British Policies & Their Impact – Economic, Administrative & Socio-cultural
  • Socio-cultural Reform Movements
  • Uprisings Against British Pre-1857
3. स्वतंत्रता संग्राम– इसके विभिन्न चरण और देश के विभिन्न भागों से इसमें अपना योगदान देने वाले महत्त्वपूर्ण व्यक्ति/उनका योगदान।

1857 का विद्रोह

भारत में राष्ट्रवाद का विकास (1858-1905)

  • देश का राजनीतिक, आर्थिक और प्रशासनिक एकीकरण
  • पश्चिमी शिक्षा की भूमिका
  • प्रेस की भूमिका
  • भारत के अतीत की खोज
  • प्रारंभिक राजनीतिक आंदोलन
  • INC का गठन
  • नरमपंथी का युग

विकास मिलिटेंट नेशनलिज़्म एंड रिवोल्यूशनरी एक्टिविटीज़ (1905-1918)

आरंभिक जन राष्ट्रवाद (1919-1939)

स्वतंत्रता और विभाजन की ओर (1939-1947)

  • द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान राष्ट्रीय आंदोलन
  • अगस्त ऑफर
  • व्यक्तिगत सत्याग्रह
  • सांप्रदायिकता का बढ़ना
  • किसान आंदोलन
  • स्टेट पीपुल्स स्ट्रगल
  • क्रिप्स मिशन
  • भारत छोड़ो आंदोलन
  • वेवेल योजना
  • आईएनए और सुभाष चंद्र बोस
  • कैबिनेट मिशन
  • द्वितीय विश्व युद्ध के बाद राष्ट्रवादी अपसर्ज
  • विभाजन के साथ स्वतंत्रता
3. The Freedom Struggle – its various stages and important contributors/contributions from different parts of the country.

Revolt of 1857

Growth of Nationalism in India (1858-1905)

  • Political, Economic & Administrative Unification of the Country
  • Role of Western Education
  • Role of Press
  • Rediscovery of India’s Past
  • Early Political Movements
  • Formation of INC
  • Era of Moderates

Growth of Militant Nationalism & Revolutionary Activities (1905-1918)

  • Swadeshi & Boycott Movement
  • Surat Split
  • International Influence
  • Morley – Minto Reforms
  • Growth of Communalism

Beginning of Mass Nationalism (1919-1939)

  • Mahatma Gandhi – His Ideas & Leadership (Champaran Satyagraha)
  • Montagu-Chelmsford Reforms
  • Rowlatt Act, Satyagrah and Jallianwala Bagh Massacre
  • Non-cooperation & Khilafat Movement
  • Swarajists & No-Changers
  • Emergence of New Forces – Socialistic Ideas, Youth &
  • Trade Unionism
  • Revolutionary Activity
  • Simon Commission & Nehru Report
  • Civil Disobedience Movement
  • Round Table Conferences
  • Communal Award & Poona Pact
  • Participation in Elections to Central Legislature (1934) &
  • Provincial Assemblies (1937)
  • Government of India Act, 1935

Towards Freedom & Partition (1939-1947)

  • National Movement During World War II
  • August Offer
  • Individual Satyagraha
  • Growth of Communalism
  • Peasant Movements
  • State People’s Struggle
  • Cripps Mission
  • Quit India Movement
  • Wavell Plan
  • INA & Subhash Chandra Bose
  • Cabinet Mission
  • Nationalist Upsurge Post-World War II
  • Independence with Partition
4. स्वतंत्रता के पश्चात् देश के अंदर एकीकरण और पुनर्गठन।

राष्ट्र निर्माण

  • विभाजन और उसके बाद
  • रियासतों का एकीकरण
  • राज्यों का पुनर्गठन
  • राजभाषा का मुद्दा
  • आदिवासी समेकन
  • क्षेत्रीय आकांक्षाएँ

विदेश नीति

  • असंयुक्त आंदोलन
  • पंचशील
  • पाकिस्तान और चीन के साथ युद्ध
  • परमाणु नीति

अर्थव्यवस्था

  • नियोजित विकास
  • हरित क्रांति, ऑपरेशन बाढ़ और सहकारिता
  • कृषि और भूमि सुधार
  • औद्योगिक सुधार
  • एलपीजी सुधार

राजनीति

  • वन-पार्टी डोमिनेंस का युग
  • विपक्षी दलों का उभार
  • आपातकाल: डेमोक्रेटिक ऑर्डर का संकट
  • क्षेत्रीय दलों का उदय
  • गठबंधन काल

सामाजिक

  • लोकप्रिय आंदोलन
  • सांप्रदायिकता
  • आजादी के बाद से भारतीय महिलाएं
  • नक्सलवाद
4. Post-independence consolidation and reorganization within the country.

Nation Building

  • Partition and Its Aftermath
  • Integration of Princely States
  • Reorganisation of States
  • Issue of Official Language
  • Tribal Consolidation
  • Regional Aspirations

Foreign Policy

  • Non-Aligned Movement
  • Panchsheel
  • Wars with Pakistan & China
  • Nuclear Policy

Economy

  • Planned Development
  • Green Revolution, Operation Flood & Cooperatives
  • Agrarian & Land Reforms
  • Industrial Reforms
  • LPG Reforms

Polity

  • Era of One-Party Dominance
  • Emergence of Opposition Parties
  • Emergency: Crisis of Democratic Order
  • Rise of Regional Parties
  • Coalition Era

Social

  • Popular Movements
  • Communalism
  • Indian Women Since Independence
  • Naxalism
5. विश्व के इतिहास में 18वीं सदी तथा बाद की घटनाएँ यथा औद्योगिक क्रांति, विश्व युद्ध, राष्ट्रीय सीमाओं का पुनःसीमांकन, उपनिवेशवाद, उपनिवेशवाद की समाप्ति, राजनीतिक दर्शन जैसे साम्यवाद, पूंजीवाद, समाजवाद आदि शामिल होंगे, उनके रूप और समाज पर उनका प्रभाव।

औद्योगिक क्रांति

  • पुनर्जागरण काल
  • समुद्री मार्गों की खोज
  • सुधार
  • काउंटर सुधार
  • यूरोपीय राष्ट्र सेटल नॉर्थ अमेरिका
  • दास व्यापार का उदय
  • अमेरिकी स्वतंत्रता का युद्ध
  • फ्रेंच क्रांति
  • यूरोप में राष्ट्रवाद
  • पूंजीवाद, उपनिवेशवाद और साम्राज्यवाद का उदय

पहला विश्व युद्ध

  • युद्ध के कारण
  • युद्ध का दायरा और पाठ्यक्रम
  • रुसी क्रांति
  • युद्ध और शांति संधियों का अंत
  • युद्ध के परिणाम
  • देशों की लीग

दो युद्धों के बीच की दुनिया

  • यूरोप युद्ध के बाद – फासीवाद और नाजीवाद
  • अधिक अवसाद
  • सोवियत संघ का उभार
  • एशिया और अफ्रीका में राष्ट्रवादी आंदोलन
  • एक मजबूत शक्ति के रूप में यू.एस.

द्वितीय विश्व युद्ध

  • फासीवादी आक्रामकता और पश्चिमी लोकतंत्रों की प्रतिक्रिया
  • युद्ध का प्रकोप
  • युद्ध के थिएटर
  • युद्ध में अमेरिकी प्रवेश
  • युद्ध की वैश्विक प्रकृति
  • प्रलय
  • प्रतिरोध आंदोलन
  • युद्ध के बाद के प्रभाव

Decolonialisation और Redrawal राष्ट्रीय सीमाओं का

  • द्वितीय विश्व युद्ध के बाद यूरोप
  • शीत युद्ध
  • एशिया और अफ्रीका का उदय
  • पश्चिम एशिया और उत्तरी अफ्रीका में विकास
  • साम्यवाद का प्रसार
  • कोरियाई युद्ध
  • वियतनाम युद्ध
  • क्यूबा के संकट
  • सोवियत संघ का पतन

राजनीतिक दर्शन की अवधारणा, प्रकार और सामाजिक प्रभाव

  • साम्यवाद
  • पूंजीवाद
  • समाजवाद
5. History of the world will include events from 18th century such as Industrial revolution, World wars, Redrawal of national boundaries, Colonization, Decolonization, Political philosophies like Communism, Capitalism, Socialism etc.- their forms and effect on the society.

Industrial Revolution

  • Renaissance
  • Discovery of Sea Routes
  • Reformation
  • Counter Reformation
  • European Nations Settle North America
  • Rise of Slave Trade
  • American War of Independence
  • French Revolution
  • Nationalism in Europe
  • Rise of Capitalism, Colonialism & Imperialism

World War I

  • Causes of the War
  • Scope & Course of the War
  • Russian Revolution
  • End of the War & Peace Treaties
  • Consequences of the War
  • League of Nations

World Between the Two Wars

  • Europe After the War – Fascism & Nazism
  • The Great Depression
  • Emergence of Soviet Union
  • Nationalist Movements in Asia & Africa
  • US as a Strong Power

World War II

  • Fascist Aggression & Response of Western Democracies
  • Outbreak of the War
  • Theatres of the War
  • US Entry into the War
  • Global Nature of the War
  • The Holocaust
  • Resistance Movements
  • After-effects of the War

Decolonialisation & Redrawal of National Boundaries

  • Europe after World War II
  • Cold War
  • Rise of Asia & Africa
  • Developments in West Asia & North Africa
  • Spread of Communism
  • Korean War
  • Vietnam War
  • Cuban Crisis
  • Collapse of Soviet Union

Concept, Types & Social Impact of Political Philosophies

  • Communism
  • Capitalism
  • Socialism
6. भारतीय समाज की मुख्य विशेषताएँ, भारत की विविधता।

भारतीय समाज की मुख्य विशेषताएँ

  • विविधता (प्रकार – जाति, भाषाई, सामाजिक और धार्मिक, जाति, जनजाति और जातीयता, संस्कृति)
  • विविधता से उत्पन्न चुनौतियाँ
  • एकता
  • बहुलवाद
  • अनेकता में एकता
  • असमानता और बहिष्कार
  • परिवार प्रणाली
  • उदाहरण।
6. Salient features of Indian Society, Diversity of India.

Salient Features of Indian Society

  • Diversity (Types – caste, linguistic, social and religious, race, tribe and ethnicity, culture)
  • Challenges posed by Diversity
  • Unity
  • Pluralism
  • Unity in Diversity
  • Inequality and Exclusion
  • Family System
  • Examples of above.
7. महिलाओं की भूमिका और महिला संगठन, जनसंख्या एवं संबद्ध मुद्दे, गरीबी और विकासात्मक विषय, शहरीकरण, उनकी समस्याएँ और उनके रक्षोपाय।

महिलाओं की भूमिका और महिला संगठन

  • महिला संगठन – कार्रवाई के माध्यम से सशक्तिकरण
  • 19 वीं शताब्दी के सामाजिक सुधार आंदोलन और प्रारंभिक महिला संगठन – (1) कृषि संघर्ष और विद्रोह, (2) स्वतंत्रता संग्राम में भागीदारी
  • महिला संगठन पोस्ट – 1947
  • 70 के दशक में महिला आंदोलन का पुनरुत्थान: (1) नए संगठनों का उदय, (2) दृष्टिकोण और मुद्दे
  • समकालीन महिला मुद्दे और संगठन प्रतिक्रिया
  • महिला संगठन और एस.एच.जी.
  • महिला संगठनों द्वारा चुनौती

जनसंख्या और संबद्ध मुद्दे

  • भारत की मूल जनसांख्यिकी
  • भारत में जनसंख्या रुझान और उनके निहितार्थ
  • अधिक जनसंख्या के कारण और प्रभाव
  • जनसंख्या विस्फोट की चुनौतियाँ
  • भारतीय जनसंख्या की आयु संरचना बदलना
  • डेमोगर्फिक डिविडेंड: भारत के लिए बून या बैन
  • भारत में जनसंख्या वृद्धी
  • भारत की जनसंख्या नीति और पहल

गरीबी और विकासात्मक मुद्दे

  • विकास और गरीबी की अवधारणा
  • गरीबी के प्रकार
  • गरीबी का मापन – गरीबी रेखा
  • गरीबी के कारण
  • एक सामाजिक समस्या के रूप में गरीबी
  • गरीबी का सामाजिक-आर्थिक प्रसार
  • गरीबी के परिणाम –
    • असमानता
    • शातिर चक्र की निरंतरता
    • गरीबी से सबसे ज्यादा प्रभावित कौन हैं?
  • बढ़ती शहरी गरीबी की समस्या
  • गरीबी उन्मूलन पहल
  • गरीबी को कम करने के लिए समावेशी या गरीब-गरीब विकास के लिए “ट्रिकल डाउन” अर्थशास्त्र से नीति बदलाव
  • गरीबी में कमी और विकास के बीच संबंध: गरीबी-असमानता-विकास नेक्सस

शहरीकरण

  • भारत में शहरीकरण के रुझान और उनके निहितार्थ – जनसांख्यिकीय और सामाजिक आयाम
  • शहरीकरण ड्राइविंग कारक
  • शहरीकरण से उत्पन्न सेवा वितरण और कॉलेजों की स्थिति
  • शहरी क्षेत्रों की समस्याएं
  • शहरीकरण के सामाजिक परिणाम
  • ग्रामीण क्षेत्रों में शहरीकरण का प्रभाव
  • शहरी नियोजन और शहरी स्थानीय निकायों की भूमिका (ULBs)
  • आवश्यक सुधार और सरकार की पहल को बहुत दूर ले जाया गया
  • मलिन बस्तियों की समस्या
7. Role of women and women’s organizations, Population and associated issues, Poverty and developmental issues, Urbanization, their problems and their remedies.

Role of Women and Women’s Organization

  • Women’s Organisations – Empowerment through Action
  • 19th Century Social Reform Movements and Early Women’s Organisations – (1) Agrarian Struggles and Revolt, (2) Participation in Freedom Struggle
  • Women’s Organisations Post – 1947
  • Resurgence of Women’s Movement in the 70s: (1) Emergence of New Organisations, (2) Approaches and Issues
  • Contemporary Women’s Issues & Organisation Response
  • Women’s Organisations and SHGs
  • Challenges faced by Women’s Organisations

Population and Associated Issues

  • Basic Demography of India
  • Population Trends in India and their Implications
  • Causes and Effects of Over Population
  • Challenges of Population Explosion
  • Changing Age Structure of Indian Population
  • Demographic Dividend: Boon or Bane for India
  • Population Aging in India
  • India’s Population Policy & Initiatives

Poverty and Developmental Issues

  • Concept of Development and Poverty
  • Types of Poverty
  • Measurement of Poverty – Poverty Line
  • Causes of Poverty
  • Poverty as a Social Problem
  • Socio-economic Spread of Poverty
  • Consequences of Poverty –
    • Inequality
    • Continuation of Vicious Cycle
    • Who are worst affected by poverty?
  • Problem of Rising Urban Poverty
  • Poverty Alleviation Initiatives
  • Policy shift from “Trickle Down” Economics to Inclusive or Pro-poor Development to Reduce Poverty
  • Relation between Poverty Reduction and Development: Poverty-Inequality-Development Nexus

Role of Women and Women’s Organization

  • Women’s Organisations – Empowerment through Action
  • 19th Century Social Reform Movements and Early Women’s Organisations – (1) Agrarian Struggles and Revolt, (2) Participation in Freedom Struggle
  • Women’s Organisations Post – 1947
  • Resurgence of Women’s Movement in the 70s: (1) Emergence of New Organisations, (2) Approaches and Issues
  • Contemporary Women’s Issues & Organisation Response
  • Women’s Organisations and SHGs
  • Challenges faced by Women’s Organisations

Urbanization

  • Urbanisation Trends in India and Their Implications – Demographic and Social Dimensions
  • Factors Driving Urbanisation
  • State of Service Delivery and Challeges posed by Urbanisation
  • Problems of Urban Areas
  • Social Consequences of Urbanisation
  • Impact of Urbanisation in Rural Areas
  • Urban Planning and Role of Urban Local Bodies (ULBs)
  • Reforms Required and Government Initiatives Taken So Far
  • Problems of Slums
8. भारतीय समाज पर भूमंडलीकरण का प्रभाव।

भारतीय समाज पर वैश्वीकरण के प्रभाव

  • भूमंडलीकरण को समझना – इसके विभिन्न आयाम
  • वैश्वीकरण और संस्कृति – समरूपता बनाम ग्लोकलाइज़ेशन
  • वैश्वीकरण ड्राइविंग कारक
  • वैश्वीकरण और भारत
  • भारत पर वैश्वीकरण का प्रभाव – सामाजिक, सांस्कृतिक, महिलाओं, कृषि क्षेत्र आदि पर।
  • क्या वैश्वीकरण गरीबी का कारण बनता है?
8. Effects of globalization on Indian society.

Effects of Globalization on Indian Society

  • Understanding Globalisation – Its Different Dimensions
  • Globalisation & Culture – Homogenisation vs. Glocalisation
  • Factors Driving Globalisation
  • Globalisation & India
  • Impact of Globalisation on India – Socio-cultural, economic, on women, agrarian sector etc.
  • Does Globalisation cause Poverty?
9. सामाजिक सशक्तीकरण, संप्रदायवाद, क्षेत्रवाद और धर्मनिरपेक्षता।

सामाजिक सशक्तीकरण

  • सामाजिक रूप से वंचित समूह कौन से हैं?
  • सामाजिक अधिकारिता के आयाम
  • सरकार की सामाजिक सशक्तिकरण के लिए पहल

सांप्रदायिकता

  • सांप्रदायिकता – इसके लक्षण
  • अतीत में भारत में सांप्रदायिकता
  • समकालीन भारत में सांप्रदायिकता
  • सांप्रदायिकता के कारण
  • साम्प्रदायिकता के परिणाम
  • सांप्रदायिकता को नियंत्रित करने और उन्मूलन के उपाय
  • साम्प्रदायिकता के रूप में धर्मनिरपेक्षता

क्षेत्रवाद

  • क्षेत्र और क्षेत्रवाद की अवधारणा
  • क्षेत्रवाद के विभिन्न रूप
  • भारत में क्षेत्रवाद
  • क्षेत्रवाद के कारण
  • ‘सन्स ऑफ सॉइल’ की अवधारणा
  • क्षेत्रवाद के परिणाम
  • संघवाद और क्षेत्रवाद
  • क्षेत्रीय दलों की भूमिका
  • कंटेनर क्षेत्रवाद के उपाय
  • अंतर्राष्ट्रीय क्षेत्र में क्षेत्रवाद

धर्मनिरपेक्षता

  • धर्मनिरपेक्षता की अवधारणा
  • इंडियन मॉडल ऑफ सेकुलरिज्म
  • भारत में धर्मनिरपेक्षता
  • भारत में धर्मनिरपेक्षता की प्रकृति और अभ्यास
  • यूनिफॉर्म सिविल कोड
  • भारत में धर्मनिरपेक्षता को चुनौती
  • भारत को सही मायने में धर्मनिरपेक्ष बनाने के उपाय

 

9. Social empowerment, Communalism, Regionalism & Secularism.

Social Empowerment

  • Which are the Socially Disadvantaged Groups?
  • Dimensions of Social Empowerment
  • Government Initiatives to Aide Social Empowerment

Communalism

  • Communalism – Its Characteristics
  • Communalism in India in the Past
  • Communalism in Contemporary India
  • Causes of Communalism
  • Consequences of Communalism
  • Measures to Control & Eradicate Communalism
  • Secularism as an Antidote to Communalism

Regionalism

  • Concept of Region & Regionalism
  • Different Forms of Regionalism
  • Regionalism in India
  • Causes of Regionalism
  • Concept of ‘Sons of Soil’
  • Consequences of Regionalism
  • Federalism & Regionalism
  • Role of Regional Parties
  • Measures to Contain Regionalism
  • Regionalism in the International Sphere

Secularism

  • Concept of Secularism
  • Indian Model of Secularism
  • Secularism in India
  • Nature & Practice of Secularism in India
  • Uniform Civil Code
  • Challenges faced by Secularism in India
  • Measures to Make India Truly Secular
10. विश्व के भौतिक भूगोल की मुख्य विशेषताएँ।

विश्व की भौतिक भूगोल की मुख्य विशेषताएं

भू-आकृति विज्ञान

  • पृथ्वी की उत्पत्ति और विकास
  • पृथ्वी का आंतरिक भाग
  • महाद्वीपों और महासागरों का वितरण
  • प्लेट टेक्टोनिक सिद्धांत
  • भूकंप और ज्वालामुखियों का वितरण
  • चट्टानों और रॉक साइकिल
  • जियोमोर्फिक प्रक्रियाएं – एंडोजेनिक और एक्सोजेनिक
  • लैंडफ़ॉर्म और उनका विकास

औशेयनोग्रफ़ी

  • हाइड्रोलॉजिकल साइकल
  • समुंदर तल का प्रसार
  • महासागर तल विन्यास
  • तापमान और महासागरों की लवणता
  • महासागरों का आंदोलन – लहरें, ज्वार, करंट

जलवायुविज्ञानशास्र

  • पृथ्वी का वायुमंडल – संरचना और संरचना
  • सौर विकिरण, ताप बजट और तापमान
  • वायुमंडलीय परिसंचरण और मौसम प्रणाली
  • विश्व जलवायु (उदाहरण)

मिट्टी का भूगोल

  • मिट्टी और मिट्टी सामग्री
  • मृदा निर्माण की प्रक्रिया
  • मिट्टी बनाने के कारक
  • मिट्टी के प्रकार (उदाहरण)
  • मृदा क्षरण और संरक्षण
10. Salient features of world’s physical geography.

Geomorphology

  • Origin & Evolution of Earth
  • Interior of the Earth
  • Distribution of Continents & Oceans
  • Plate Tectonic Theory
  • Distribution of Earthquakes & Volcanoes
  • Rocks & Rock Cycle
  • Geomorphic Processes – Endogenic & Exogenic
  • Landforms & their Evolution

Oceanography

  • Hydrological Cycle
  • Seafloor Spreading
  • Ocean Floor Configuration
  • Temperature & Salinity of Oceans
  • Movement of Oceans – Waves, Tides, Currents

Climatology

  • Earth’s Atmosphere – Composition & Structure
  • Solar Radiation, Heat Budget & Temperature
  • Atmospheric Circulation & Weather Systems
  • World Climate (examples)

Soil Geography

  • Soil & Soil Contents
  • Process of Soil Formation
  • Soil Forming Factors
  • Types of Soils (examples)
  • Soil Erosion & Conservation
11. विश्व भर के मुख्य प्राकृतिक संसाधनों का वितरण (दक्षिण एशिया और भारतीय उपमहाद्वीप को शामिल करते हुए), विश्व (भारत सहित) के विभिन्न भागों में प्राथमिक, द्वितीयक और तृतीयक क्षेत्र के उद्योगों को स्थापित करने के लिये ज़िम्मेदार कारक।

दुनिया भर में प्रमुख प्राकृतिक संसाधनों का वितरण

संसाधनों के प्रकार

  • मूल के आधार पर, स्वामित्व, थकावट आदि।

भूमि संसाधन

  • भूमि का उपयोग
  • भूमि उपयोग पैटर्न
  • भूमि का नवीनीकरण और संरक्षण

वन संसाधन

  • प्रकार और वितरण – घास के मैदान, वन आदि।
  • कमी के कारण
  • वनों का संरक्षण

जल संसाधन

  • समुद्री और मीठे पानी
  • पानी की कमी और संरक्षण की आवश्यकता
  • एकीकृत जल संसाधन प्रबंधन

कृषि संसाधन

  • खेती के प्रकार
  • फसल के पैटर्न
  • अर्थव्यवस्था, रोजगार और आउटपुट में योगदान
  • खाद्य सुरक्षा

खनिज और ऊर्जा संसाधन

  • खनिजों का वर्गीकरण – लौह और अलौह
  • खनिज की घटना
  • खनिजों का संरक्षण
  • ऊर्जा संसाधनों का वर्गीकरण – पारंपरिक और गैर-पारंपरिक
  • ऊर्जा संसाधनों की घटना
  • ऊर्जा संसाधनों का संरक्षण

उद्योगों के स्थान के लिए जिम्मेदार कारक

उद्योगों का वर्गीकरण

बेसिस पर उद्योगों का स्थान और वितरण

  • कच्चा माल
  • श्रम
  • मंडी
  • राजधानी
  • भूमि
  • अनुदान और वित्तीय प्रोत्साहन
  • शक्ति
  • ट्रांसपोर्ट
  • पानी
  • संचार

प्रमुख उद्योगों का वितरण – आयरन एंड स्टील, आईटी, कॉटन टेक्सटाइल

एग्लोमरेशन एंड फूटलोज इंडस्ट्रीज

11. Distribution of key natural resources across the world (including South Asia and the Indian sub-continent); factors responsible for the location of primary, secondary and tertiary sector industries in various parts of the world (including India).

Distribution of Key Natural Resources Across the World

Types of Resources

  • On the Basis of Origin, Ownership, Exhaustability etc.

Land Resources

  • Land Utilisation
  • Land Use Pattern
  • Land Degradation & Conservation

Forest Resources

  • Types & Distribution – Grasslands, Forests etc.
  • Causes of Depletion
  • Conservation of Forests

Water Resources

  • Marine & Freshwater
  • Water Scarcity & Need For Conservation
  • Integrated Water Resources Management

Agricultural Resources

  • Types of Farming
  • Cropping Patterns
  • Contribution to Economy, Employment & Output
  • Food Security

Mineral & Energy Resources

  • Classification of Minerals – Ferrous & Non-Ferrous
  • Occurrence of Minerals
  • Conservation of Minerals
  • Classification of Energy Resources – Conventional & Non-Conventional
  • Occurrence of Energy Resources
  • Conservation of Energy Resources

Factors Responsible for the Location of Industries

Classification of Industries

Location & Distribution of the Industries on the Basis of

  • Raw Material
  • Labour
  • Market
  • Capital
  • Land
  • Grants & Financial Incentives
  • Power
  • Transport
  • Water
  • Communication

Distribution of Major Industries – Iron & Steel, IT, Cotton Textile

Agglomeration & Footloose Industries

12. भूकंप, सुनामी, ज्वालामुखीय हलचल, चक्रवात आदि जैसी महत्त्वपूर्ण भू-भौतिकीय घटनाएँ, भौगोलिक विशेषताएँ और उनके स्थान- अति महत्त्वपूर्ण भौगोलिक विशेषताओं (जल-स्रोत और हिमावरण सहित) और वनस्पति एवं प्राणिजगत में परिवर्तन और इस प्रकार के परिवर्तनों के प्रभाव।

महत्वपूर्ण भूभौतिकीय घटना

भूकंप

  • पृथ्वी क्यों हिलती है?
  • भूकंप की लहरें
  • छाया क्षेत्र
  • भूकंप के प्रकार
  • भूकंप को मापने
  • भूकंप के प्रभाव

सुनामी

  • सुनामी का क्या कारण है
  • सुनामी का प्रभाव
  • सुनामी के प्रभाव को कम करना

ज्वालामुखी

  • ज्वालामुखियों के प्रकार
  • ज्वालामुखी क्या कारण हैं?
  • ज्वालामुखीय लैंडफॉर्म

चक्रवात

  • ऊष्णकटिबंधी चक्रवात
  • विरोधी चक्रवात
  • अतिरिक्त उष्णकटिबंधीय चक्रवात

भौगोलिक विशेषताएं और उनका स्थान

  • क्रिटिकल भौगोलिक विशेषताओं में परिवर्तन के कारण कारक
  • जियोग्राफिकल फीचर्स बदलने के उदाहरण – आइस शीट्स का मरवाना, मरुस्थलीकरण आदि।
  • भौगोलिक विशेषताओं को बदलने का प्रभाव
12. Important Geophysical phenomena such as Earthquakes, Tsunami, Volcanic activity, Cyclone etc., geographical features and their location- changes in critical geographical features (including Waterbodies and Ice-caps) and in flora and fauna and the effects of such changes.

Important Geophysical Phenomena

Earthquakes

  • Why Does Earth Shake?
  • Earthquake Waves
  • Shadow Zone
  • Types of Earthquake
  • Measuring Earthquake
  • Effects of Earthquake

Tsunami

  • What Causes Tsunami
  • Effect of Tsunami
  • Mitigating the Impact of Tsunami

Volcanoes

  • Types of Volcanoes
  • What Causes Volcanoes?
  • Volcanic Landforms

Cyclone

  • Tropical Cyclones
  • Anti-Cyclone
  • Extra Tropical Cyclones

Geographical Features and their Location

  • Factors Causing Changes in Critical Geographical Features
  • Examples of Changing Geographicl Features – Mealting of Ice Sheets, Desertification etc.
  • Impact of Changing Geographical Features

प्रश्नपत्र- 3

सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र-2
शासन व्यवस्था, संविधान, शासन प्रणाली, सामाजिक न्याय तथा अंतर्राष्ट्रीय संबंध
GS-Paper 2
Governance, Constitution, Polity, Social Justice and International Relations
क्र.सं. विषय S.No. Topic
1. भारतीय संविधान- ऐतिहासिक आधार, विकास, विशेषताएँ, संशोधन, महत्त्वपूर्ण प्रावधान और बुनियादी संरचना।

ऐतिहासिक अंतर्ग्रहण और विकास

  • विनियमन अधिनियम (1773) से स्वतंत्रता अधिनियम (1947)
  • घटक सभा
  • उद्देश्य संकल्प
  • संविधान का प्रवर्तन और प्रवर्तन

विशेषताएं

  • लिखा हुआ
  • लचीला और कठोर
  • संघीय और एकात्मक
  • सरकार का संसदीय प्रपत्र (राष्ट्रपति बनाम संसदीय प्रकार सरकार)

संशोधन

  • महत्वपूर्ण की सूची संशोधन और उनके प्रावधान
  • संविधान में संशोधन की प्रक्रिया

महत्वपूर्ण प्रावधान

  • मौलिक अधिकार
  • आदेश राज्य नीति के सिद्धांत
  • न्यायिक समीक्षा
  • यूनिवर्सल वयस्क मताधिकार
  • एकल नागरिकता
  • अधिकारों का विभाजन

बुनियादी संरचना

  • सिद्धांत
  • निर्णय और मामले
1. Indian Constitution- historical underpinnings, evolution, features, amendments, significant provisions and basic structure.

Historical Underpinning & Evolution

  • Regulating Act (1773) to Independence Act (1947)
  • Constituent Assembly
  • Objective Resolution
  • Enactment & Enforcement of Constitution

Features

  • Written
  • Flexible & Rigid
  • Federal & Unitary
  • Parliamentary Form of Government (Presidential vs. Parliamentary Type of Government)

Amendments

  • List of Significant Amendments & Their Provisions
  • Procedure for Amending Constitution

Significant Provisions

  • Fundamental Rights
  • Directive Principles of State Policy
  • Judicial Review
  • Universal Adult Franchise
  • Single Citizenship
  • Separation of Powers

Basic Structure

  • The Doctrine
  • Judgments & Cases
2. संघ एवं राज्यों के कार्य तथा उत्तरदायित्व, संघीय ढाँचे से संबंधित विषय एवं चुनौतियाँ, स्थानीय स्तर पर शक्तियों और वित्त का हस्तांतरण और उसकी चुनौतियाँ।

संघ और राज्यों के कार्य और जिम्मेदारियां

  • वीं अनुसूची
  • विधायी कार्य
  • वित्तीय कार्य
  • प्रशासनिक और अर्ध-न्यायिक कार्य

संघीय संरचना से संबंधित मुद्दे और चुनौतियाँ

भारत में संघीय संरचना – क्या भारत वास्तव में संघीय है?

सहकारी और प्रतिस्पर्धी संघवाद

केंद्र-राज्य संबंध

  • विधायी संबंध
  • प्रशासनिक संबंध
  • वित्तीय संबंध
  • केंद्र-राज्य संबंधों में रुझान

अंतर-राज्य संबंध

  • अंतर-राज्य जल विवाद
  • अंतर-राज्य परिषदें
  • सार्वजनिक अधिनियम, रिकॉर्ड और न्यायिक कार्यवाही
  • अंतर-राज्य व्यापार और वाणिज्य
  • आंचलिक परिषद

आपातकालीन प्रावधान

राज्यपाल की भूमिका

विभिन्न आयोगों की रिपोर्ट

  • दूसरी एआरसी, पंची, सरकारिया आदि।
2. Functions and responsibilities of the Union and the States, issues and challenges pertaining to the federal structure, devolution of powers and finances up to local levels and challenges therein.

Functions & Responsibilities of the Union and the States

  • 7th Schedule
  • Legislative Functions
  • Financial Functions
  • Administrative & Quasi-Judicial Functions

Federal Structure in India – Is India truly Federal?

Cooperative & Competitive Federalism

Centre-State Relations

  • Legislative Relations
  • Administrative Relations
  • Financial Relations
  • Trends in Centre-State Relations

Inter-State Relations

  • Inter-state Water Disputes
  • Inter-State Councils
  • Public Acts, Records and Judicial Proceedings
  • Inter-State Trade and Commerce
  • Zonal Councils

Emergency Provisions

Role of Governor

Reports of Various Commissions

  • 2nd ARC, Punchhi, Sarkaria, etc.

Devolution of Powers & Finances to Local Levels & Challenges Therein

  • Role of State Government
  • Role of State Finance Commission
  • 11th & 12th Schedule
  • Reasons for Ineffective Performance
  • Panchayat Devolution Index ( NITI Aayog)
  • Steps That Can Be Taken to Improve Their Performance
3. विभिन्न घटकों के बीच शक्तियों का पृथक्करण, विवाद निवारण तंत्र तथा संस्थान।

शक्तियों और वित्त का स्तर स्थानीय स्तर पर और उसमें चुनौतियां

  • राज्य सरकार की भूमिका
  • राज्य वित्त आयोग की भूमिका
  • 11 वीं और 12 वीं अनुसूची
  • अप्रभावी प्रदर्शन के कारण
  • पंचायत विचलन सूचकांक (NITI Aayog)
  • उनके प्रदर्शन को बेहतर बनाने के लिए कदम उठाए जा सकते हैं

विभिन्न संगठनों के बीच शक्तियों का पृथक्करण

  • विद्युत के पृथक्करण का सिद्धांत
  • भारतीय संविधान में शक्ति का पृथक्करण
  • चेक एंड बैलेंस के सिद्धांत
  • भारतीय संविधान में चेक और शेष के लिए प्रावधान
  • संबंधित निर्णय – गोलकनाथ मामला, केशवानंद भारती, इंदिरा गांधी बनाम राज नारायण, राम जयवे बनाम पंजाब

विवाद निवारण तंत्र और संस्थाएं

  • सूचना का अधिकार
  • जनहित याचिका
  • अधिकरण आदि।

 

3. Separation of powers between various organs, dispute redressal mechanisms and institutions.

Separation of Powers Between Various Organs

  • Doctrine of Separation of Power
  • Separation of Power in Indian Constitution
  • Doctrine of Checks & Balances
  • Provisions for Checks & Balances in Indian Constitution
  • Related Judgments – Golaknath case, Kesavananda Bharati, Indira Gandhi Vs Raj Narain, Ram Jawaya vs Punjab

Dispute Redressal Mechanisms and Institutions

  • RTI
  • PIL
  • Tribunals, etc.
4. भारतीय संवैधानिक योजना की अन्य देशों के साथ तुलना।

संरचना, कार्य, व्यवसाय का संचालन, शक्तियां और विशेषाधिकार

  • लिखित संविधान
  • मिश्रण की कठोरता और लचीलापन
  • एकात्मक पूर्वाग्रह के साथ संघीय प्रणाली
  • सरकार का संसदीय प्रपत्र
  • संसदीय संप्रभुता और न्यायिक सर्वोच्चता का संश्लेषण
  • एकीकृत और स्वतंत्र न्यायपालिका
  • मौलिक अधिकार, राज्य नीति के मूल सिद्धांत, मौलिक कर्तव्य
  • धर्म निरपेक्ष प्रदेश
  • यूनिवर्सल वयस्क मताधिकार
  • एकल नागरिकता
  • आपातकालीन प्रावधान
  • त्रिस्तरीय सरकार
  • कानून की प्रक्रिया बनाम कानून द्वारा स्थापित प्रक्रिया
  • राष्ट्रपति का महाभियोग आदि।

 

 

4. Comparison of the Indian constitutional scheme with that of other countries.

Comparison of the Indian Constitutional Scheme With That of Other Countries Parliament & State Legislatures

Structure, Functioning, Conduct of Business, Powers & Privileges

  • Written Constitution
  • Blend of Rigidity and Flexibility
  • Federal System with Unitary Bias
  • Parliamentary Form of Government
  • Synthesis of Parliamentary Sovereignty and Judicial Supremacy
  • Integrated and Independent Judiciary
  • Fundamental Rights, Directive Principles of State Policy, Fundamental Duties
  • Secular State
  • Universal Adult Franchise
  • Single Citizenship
  • Emergency Provisions
  • Three-tier Government
  • Due Process of Law vs. Procedure Established by Law
  • Impeachment of President, etc.
5. संसद और राज्य विधायिका- संरचना, कार्य, कार्य-संचालन, शक्तियाँ एवं विशेषाधिकार और इनसे उत्पन्न होने वाले विषय। 5. Parliament and State Legislatures – structure, functioning, conduct of business, powers & privileges and issues arising out of these.

6. कार्यपालिका और न्यायपालिका की संरचना, संगठन और कार्य- सरकार के मंत्रालय एवं विभाग, प्रभावक समूह और औपचारिक/अनौपचारिक संघ तथा शासन प्रणाली में उनकी भूमिका।

कार्यपालिका और न्यायपालिका की संरचना, संगठन और कार्य

कार्यपालक

  • संघ:
    • अध्यक्ष
    • प्रधान मंत्री
    • मंत्रिमंडल
    • कैबिनेट सचिवालय
  • राज्य:
    • राज्यपाल
    • मुख्यमंत्री
    • मंत्रिमंडल
    • सचिवालय

न्यायतंत्र

  • थ्री-टियर स्ट्रक्चर
  • भारत के मुख्य न्यायाधीश
  • SC और HC न्यायाधीश
  • अधिकार – क्षेत्र

सरकार के मंत्रालय और विभाग

  • कैबिनेट मंत्रालय
  • अन्य मंत्रालय
  • संसदीय सचिव

दबाव समूह और औपचारिक / अनौपचारिक संघ और राजनीति में उनकी भूमिका

  • दबाव समूहों के लक्षण
  • दबाव समूह और राजनीतिक दल
  • दबाव समूह और ब्याज समूह
  • दबाव समूहों के प्रकार
  • कार्य, दबाव समूह की भूमिका और महत्व
  • दबाव समूहों की तकनीक / तरीके
  • भारत में दबाव समूह
  • दबाव समूहों की कमियों

 

6. Structure, organization and functioning of the Executive and the Judiciary; Ministries and Departments of the Government; pressure groups and formal/informal associations and their role in the Polity.

Structure, Organization & Functioning of the Executive and the Judiciary

Executive

  • Union:
    • President
    • Prime Minister
    • Council of Ministers
    • Cabinet Secretariat
  • State:
    • Governor
    • Chief Minister
    • Council of Ministers
    • Secretariat

Judiciary

  • Three-Tier Structure
  • Chief Justice of India
  • SC & HC Judges
  • Jurisdiction

Ministries and Departments of the Government

  • Cabinet Ministries
  • Other Ministries
  • Parliamentary Secretaries

Pressure Groups & Formal/informal Associations & Their Role in Polity

  • Characteristics of Pressure Groups
  • Pressure Groups & Political Parties
  • Pressure Groups & Interest Groups
  • Types of Pressure Groups
  • Functions, Role & Importance of Pressure Groups
  • Techniques/Methods of Pressure Groups
  • Pressure Groups in India
  • Shortcomings of Pressure Groups
7. जन प्रतिनिधित्व अधिनियम की मुख्य विशेषताएँ। 7. Salient features of the Representation of People’s Act.
8. विभिन्न संवैधानिक पदों पर नियुक्ति और विभिन्न संवैधानिक निकायों की शक्तियाँ, कार्य और उत्तरदायित्व।

विभिन्न संवैधानिक पदों पर नियुक्ति

नियुक्ति, शक्तियां, कार्य और जिम्मेदारियां:

  • चुनाव आयोग
  • संघ लोक सेवा आयोग
  • राज्य लोक सेवा आयोग
  • वित्त आयोग
  • राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग
  • राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग
  • भाषाई अल्पसंख्यकों के लिए विशेष अधिकारी
  • भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक
  • भारत के अटॉर्नी जनरल के
  • राज्य के महाधिवक्ता

 

8. Appointment to various Constitutional posts, powers, functions and responsibilities of various Constitutional Bodies.

Appointment to Various Constitutional Posts

Appointment, Powers, Functions & Responsibilities of:

  • Election Commission
  • Union Public Service Commission
  • State Public Service Commission
  • Finance Commission
  • National Commission for SCs
  • National Commission for STs
  • Special Officer for Linguistic Minorities
  • Comptroller and Auditor General of India
  • Attorney General of India
  • Advocate General of the State
9. सांविधिक, विनियामक और विभिन्न अर्द्ध-न्यायिक निकाय।

सांविधिक, विनियामक और अर्ध-न्यायिक निकाय

  • NITI Aayog
  • भारतीय रिजर्व बैंक
  • राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग
  • राज्य मानवाधिकार आयोग
  • केंद्रीय सूचना आयोग
  • केंद्रीय सतर्कता आयोग
  • केंद्रीय जांच ब्यूरो
  • लोकपाल और लोकायुक्त
  • राष्ट्रीय महिला आयोग
  • पिछड़ा वर्ग के लिए राष्ट्रीय आयोग
  • राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग
  • बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण
  • भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड
  • भारत का प्रतियोगिता आयोग
  • भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण
  • केंद्रीय विद्युत नियामक आयोग
  • परमाणु ऊर्जा नियामक बोर्ड
  • केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड
  • भारतीय चिकित्सा परिषद
  • भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण
  • केंद्रीय भूजल प्राधिकरण
  • नागर विमानन महानिदेशालय
  • पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण
  • भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण
  • बार काउंसिल ऑफ इंडिया
  • विश्वविद्यालय अनुदान आयोग
  • वित्तीय स्थिरता और विकास परिषद
  • अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद
  • नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल
  • प्रतियोगिता अपीलीय न्यायाधिकरण
  • आयकर अपीलीय न्यायाधिकरण
  • साइबर अपीलीय न्यायाधिकरण
  • बौद्धिक संपदा अपीलीय बोर्ड
9. Statutory, regulatory and various quasi-judicial bodies.

Statutory, Regulatory & Quasi-Judicial Bodies

  • NITI Aayog
  • RBI
  • National Human Rights Commission
  • State Human Rights Commission
  • Central Information Commission
  • Central Vigilance Commission
  • Central Bureau of Investigation
  • Lokpal and Lokayuktas
  • National Commission for Women
  • National Commission for Backward Classes
  • National Commission for Minorities
  • Insurance Regulatory and Development Authority
  • Securities and Exchange Board of India
  • Competition Commission of India
  • Telecom Regulatory Authority of India
  • Central Electricity Regulatory Commission
  • Atomic Energy Regulatory Board
  • Central Pollution Control Board
  • Medical Council of India
  • Inland Waterways Authority of India
  • Central Ground Water Authority
  • Directorate General of Civil Aviation
  • Pension Fund Regulatory and Development Authority
  • Food Safety and Standards Authority of India
  • Bar Council of India
  • University Grants Commission
  • Financial Stability and Development Council
  • All India Council for Technical Education
  • National Green Tribunal
  • Competition Appellate Tribunal
  • Income-Tax Appellate Tribunal
  • Cyber Appellate Tribunal
  • Intellectual Property Appellate Board
10. सरकारी नीतियों और विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिये हस्तक्षेप और उनके अभिकल्पन तथा कार्यान्वयन के कारण उत्पन्न विषय।

सरकारी नीतियों और विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिये हस्तक्षेप

विभिन्न क्षेत्रों में सरकारी नीतियां और हस्तक्षेप

  • स्वास्थ्य, लिंग, शिक्षा, गरीबी, आर्थिक आदि

उनके डिजाइन और कार्यान्वयन से उत्पन्न होने वाले मुद्दे

  • चिंताएं / मुद्दे
  • सुधार हेतु सुझाव
  • केंद्र प्रायोजित योजनाओं (सीएसएस) का महत्वपूर्ण मूल्यांकन
  • CSS का युक्तिकरण
  • मुख्य योजनाओं का विश्लेषण:
    • बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ
    • समझदार शहर
    • स्वच्छ भारत अभियान
    • MGNERGA
    • डिजिटल इंडिया
    • मेक इन इंडिया
    • कौशल भारत
    • पीएम जन धन योजना
    • स्टार्ट-अप इंडिया आदि।
10. Government policies and interventions for development in various sectors and issues arising out of their design and implementation.

Government Policies & Interventions for Development

Government Policies & Interventions in Various Sectors

  • Health, Gender, Education, Poverty, Economic etc

Issues Arising Out of Their Design & Implementation

  • Concerns/Issues
  • Suggestions for Improvement
  • Critical Assessment of Centrally Sponsored Schemes (CSS)
  • Rationalisation of CSS

Analysis of Main Schemes:

  • Beti Bachao Beti Padhao
  • Smart City
  • Swachh Bharat Abhiyan
  • MGNERGA
  • Digital India
  • Make in India
  • Skill India
  • PM Jan Dhan Yojana
  • Start-up India etc.
11. विकास प्रक्रिया तथा विकास उद्योग- गैर-सरकारी संगठनों, स्वयं सहायता समूहों, विभिन्न समूहों और संघों, दानकर्ताओं, लोकोपकारी संस्थाओं, संस्थागत एवं अन्य पक्षों की भूमिका।

विकास प्रक्रियाएं और विकास उद्योग

  • सामाजिक पूंजी संगठनों की भूमिका
  • भारतीय संदर्भ
  • वर्गीकरण
  • भारतीय संविधान में तीसरे क्षेत्र के लिए प्रावधान
  • स्वैच्छिक क्षेत्र 2007 पर राष्ट्रीय नीति

गैर-सरकारी संगठन

  • भूमिका और गैर-सरकारी संगठनों का प्रभाव
  • अंक क्षेत्र: प्रत्यायन, वैधता और जवाबदेही, विदेशी धन आदि।

स्वयं सहायता समूह (SHG)

  • स्वयं सहायता समूह की आवश्यकता
  • एसएचजी के लाभ
  • SHG की कमजोरियाँ
  • चुनौतियां
  • SHG को प्रभावी बनाने के उपाय
  • केस स्टडीज: कुदुम्बश्री (केरल), महिला आर्थिक विकास महामंडल (महाराष्ट्र)

सोसाइटी, ट्रस्ट और सहकारिता

  • सोसायटी
  • विश्वास
  • धार्मिक बंदोबस्त
  • सहकारिता –
    • सहकारिता की आवश्यकता
    • संवैधानिक प्रावधान
    • सहकारी समितियों पर राष्ट्रीय नीति, 2002
    • सहकारिता क्षेत्र में मुद्दे और चुनौतियां
11. Development processes and the development industry- the role of NGOs, SHGs, various groups and associations, donors, charities, institutional and other stakeholders.

Development Processes & the Development Industry

  • Role of Social Capital Organisations
  • Indian Context
  • Classification
  • Provisions for the Third Sector in the Indian Constitution
  • National Policy on the Voluntary Sector 2007

Non-Governmental Organisations

  • Role and Impact of Non-governmental Organizations
  • Issue Areas: Accreditation, Legitimacy & Accountability, Foreign Funding etc.

Self Help Groups (SHGs)

  • Need for SHGs
  • Benefits of SHGs
  • Weaknesses of SHGs
  • Challenges
  • Measures to Make SHGs Effective
  • Case Studies: Kudumbashree (Kerala), Mahila Arthik Vikas Mahamandal (Maharashtra)

Societies, Trusts and Cooperatives

  • Societies
  • Trust
  • Religious Endowments
  • Cooperatives –
    • Need for Cooperatives
    • Constitutional Provisions
    • National Policy on Co-operatives, 2002
    • Issues and Challenges in the Cooperatives Sector
12. केन्द्र एवं राज्यों द्वारा जनसंख्या के अति संवेदनशील वर्गों के लिये कल्याणकारी योजनाएँ और इन योजनाओं का कार्य-निष्पादन; इन अति संवेदनशील वर्गों की रक्षा एवं बेहतरी के लिये गठित तंत्र, विधि, संस्थान एवं निकाय।

कमजोर वर्गों के लिए कल्याणकारी योजनाएँ

निम्न वर्गों के लिए योजनाएँ

  • एससी और एसटी
  • अल्पसंख्यक
  • बच्चे
  • बुज़ुर्ग
  • विकलांग
  • महिलाओं
  • ट्रांसजेंडर

इन योजनाओं का प्रदर्शन

तंत्र, कानून, संस्थाएं और निकाय इन कमजोर वर्गों के संरक्षण और बेहतरी के लिए गठित किए गए हैं

  • अनुसूचित जाति:
    • नागरिक अधिकारों का संरक्षण अधिनियम
    • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम
    • राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग
    • अनुसूचित जाति उप योजना
  • अक्षम किया गया:
    • भारतीय पुनर्वास परिषद अधिनियम
    • विकलांग व्यक्ति (समान अवसर, अधिकारों का संरक्षण और पूर्ण भागीदारी) अधिनियम
    • मानसिक प्रतिशोध और बहु ​​विकलांगता अधिनियम
    • आत्मकेंद्रित, सेरेब्रल पाल्सी, मानसिक प्रतिशोध और कई विकलांग अधिनियम के साथ व्यक्तियों के कल्याण के लिए राष्ट्रीय ट्रस्ट
    • विकलांग व्यक्तियों के अधिकार अधिनियम
  • अनुसूचित जनजाति:
    • राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग
    • आदिवासी उप योजना
    • ट्राइफेड
    • अनुसूचित जनजाति और अन्य पारंपरिक वन निवासी (वन अधिकारों की मान्यता) अधिनियम
  • अल्पसंख्यक:
    • राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग
    • राष्ट्रीय धार्मिक और भाषाई अल्पसंख्यकों के लिए आयोग

महिला और बच्चे

  • अनैतिक यातायात (रोकथाम) अधिनियम
  • महिलाओं का निवारक प्रतिनिधित्व (रोकथाम) अधिनियम
  • दहेज प्रतिषेध अधिनियम
  • सती आयोग (रोकथाम) अधिनियम
  • बाल विवाह निषेध अधिनियम
  • घरेलू हिंसा अधिनियम से महिलाओं का संरक्षण
  • किशोर न्याय (बच्चों की देखभाल और संरक्षण) अधिनियम
  • केंद्रीय दत्तक ग्रहण संसाधन एजेंसी (CARA)
  • यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (POCSO) अधिनियम
  • कार्यस्थल पर महिलाओं का यौन उत्पीड़न (रोकथाम, निषेध और निवारण)
  • पूर्व गर्भाधान और प्री नेटल डायग्नोस्टिक तकनीक (पीसी और पीएनडीटी) अधिनियम
  • जेंडर बजटिंग
  • महिलाओं के लिए राष्ट्रीय नीति
  • घरेलू हिंसा अधिनियम
  • मातृत्व लाभ (संशोधन) अधिनियम

बुज़ुर्ग

  • माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों का रखरखाव और कल्याण अधिनियम
12. Welfare schemes for vulnerable sections of the population by the Centre and States and the performance of these schemes; mechanisms, laws, institutions and Bodies constituted for the protection and betterment of these vulnerable sections.

Welfare Schemes for Vulnerable Sections

Schemes for the Following Vulnerable Sections

  • SCs & STs
  • Minorities
  • Children
  • Elderly
  • Disabled
  • Women
  • Transgender

Performance of These Schemes

Mechanisms, Laws, Institutions & Bodies Constituted for Protection & Betterment of These Vulnerable Sections

  • SCs:
    • The Protection of Civil Rights Act
    • The Scheduled Castes and the Scheduled Tribes (Prevention of Atrocities) Act
    • National Commission for Scheduled Castes
    • Scheduled Castes Sub Plan
  • Disabled:
    • The Rehabilitation Council of India Act
    • The Persons with Disabilities (Equal Opportunities, Protection of Rights and Full Participation) Act
    • Mental Retardation and Multiple Disabilities Act
    • The National Trust for Welfare of Persons with
      Autism, Cerebral Palsy, Mental Retardation and Multiple Disabilities Act
    • Rights of the Persons with Disabilities Act
  • STs:
    • National Commission for Scheduled Tribes
    • Tribal Sub Plan
    • TRIFED
    • Scheduled Tribes and Other Traditional Forest Dwellers (Recognition of Forest Rights) Act
  • Minorities:
    • National Commission for Minorities
    • National Commission for Religious and Linguistic Minorities

Women & Children

  • The Immoral Traffic (Prevention) Act
  • The Indecent Representation of Women (Prevention) Act
  • The Dowry Prohibition Act
  • The Commission of Sati (Prevention) Act
  • The Prohibition of Child Marriage Act
  • Protection of Women from Domestic Violence Act
  • Juvenile Justice (Care and Protection of Children) Act
  • Central Adoption Resource Agency (CARA)
  • The Protection of Children from Sexual Offences (POCSO) Act
  • Sexual Harassment of Women at Workplace (Prevention, Prohibition and Redressal)
  • Pre-Conception and Pre Natal Diagnostic Techniques (PC&PNDT) Act
  • Gender Budgeting
  • National Policy for Women
  • Domestic Violence Act
  • Maternity Benefit (Amendment) Act

Elderly

  • Maintenance and Welfare of Parents and Senior Citizens Act
13. स्वास्थ्य, शिक्षा, मानव संसाधनों से संबंधित सामाजिक क्षेत्र/सेवाओं के विकास और प्रबंधन से संबंधित विषय।

स्वास्थ्य

  • विभिन्न स्वास्थ्य संकेतकों पर भारत का प्रदर्शन
  • भारतीय स्वास्थ्य सेवा प्रणाली की कमजोरियाँ
  • भारत में हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर
  • यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज
  • 12 वीं FYP रणनीति
  • यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज
  • स्वास्थ्य बीमा
  • राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण
  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति
  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन
  • मातृ एवं किशोर स्वास्थ्य
  • बाल स्वास्थ्य
  • रोगाणुरोधी प्रतिरोध
  • भारत में रोग बोझ
  • अच्छे स्वास्थ्य परिणामों को सुनिश्चित करने के उपाय
  • सरकारी पहल

शिक्षा

  • भारत में साक्षरता की स्थिति
  • भारत में शिक्षा संरचना
  • भारत में शिक्षा क्षेत्र द्वारा चुनौती दी गई
  • आवश्यक सुधार
  • सरकारी पहल
  • एएसईआर की रिपोर्ट
  • वित्त पोषण शिक्षा
  • सुब्रमण्यम पैनल की रिपोर्ट

मानव संसाधन

  • कौशल विकास की आवश्यकता
  • कौशल विकास पहल
  • भारत में स्किलिंग लैंडस्केप में चुनौतियां
  • वर्तमान कौशल विकास पहल की कमियाँ
  • आवश्यक सुधार
  • जो कदम उठाए जा सकते हैं

 

13. Issues relating to development and management of Social Sector/Services relating to Health, Education, Human Resources.

Issues Relating to Development & Management of Social Sector/Services

Health

  • India’s Performance on Various Health Indicators
  • Weaknesses of Indian Healthcare System
  • Health Infrastructure in India
  • Universal Health Coverage
  • 12th FYP Strategy
  • Universal Health Coverage
  • Health Insurance
  • National Family Health Survey
  • National Health Policy
  • National Health Mission
  • Maternal & Adolescent Health
  • Child Health
  • Antimicrobial Resistance
  • Disease Burden in India
  • Measures to Ensure Good Health Outcomes
  • Government Initiatives

Education

  • Status of Literacy in India
  • Education Structure in India
  • Challenges Faced by Education Sector in India
  • Reforms Required
  • Government Initiatives
  • ASER Report
  • Financing Education
  • Subramanian Panel Report

Human Resource

  • Need For Skill Development
  • Skill Development Initiatives
  • Challenges in Skilling Landscape in India
  • Shortcomings of Current Skill Development Initiatives
  • Reforms Required
  • Steps that can Be Taken
14. गरीबी एवं भूख से संबंधित विषय।

  • गरीबी और भूख के बीच संबंध
  • गरीबी और भुखमरी का वितरण
  • गरीबी और भूख का चुंबकत्व और रुझान
  • गरीबी और भूख के कारण
  • गरीबी और कुपोषण का प्रभाव
  • एमडीजी और एसडीजी
  • खाद्य और पोषण की असुरक्षा – संरचनात्मक असमानताओं का परिणाम है
  • गरीबी और भुखमरी को कम करने में बाधाएं
  • गरीबी और भूख को कम करने के उपाय – राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, मध्याह्न भोजन योजना, मनरेगा आदि।
14. Issues relating to poverty and hunger.

Issues Relating to Poverty & Hunger

  • Relation between Poverty & Hunger
  • Distribution of Poverty & Hunger
  • Magnitude & Trends of Poverty & Hunger
  • Causes of Poverty & Hunger
  • Cost/Impact of Poverty & Malnutrition
  • MDGs & SDGs
  • Food and nutrition insecurity – a consequence of structural inequities
  • Constraints in Reducing Poverty & Hunger
  • Measure to Reduce Poverty & Hunger – National Food Security Act, Mid-day Meal Scheme, MGNREGA etc.
15. शासन व्यवस्था, पारदर्शिता और जवाबदेही के महत्त्वपूर्ण पक्ष, ई-गवर्नेंस- अनुप्रयोग, मॉडल, सफलताएँ, सीमाएँ और संभावनाएँ; नागरिक चार्टर, पारदर्शिता एवं जवाबदेही और संस्थागत तथा अन्य उपाय।

शासन, पारदर्शिता और जवाबदेही के महत्वपूर्ण पहलू

शासन

  • शासन के आयाम
  • सुशासन (GG)
  • जीजी के पहलू
  • जीजी के लिए बाधाएं
  • जीजी के लिए आवश्यक पूर्व शर्तें
  • जीजी सुनिश्चित करने के लिए कैसे

ई-गवर्नेंस

  • अनुप्रयोग
  • मॉडल
  • सफलता
  • सीमाएं
  • क्षमता
  • सरकार द्वारा हालिया ई-गवर्नेंस पहल

नागरिक चार्टर्स (CC)

  • सीसी के घटक
  • सीसी की विशेषताएं
  • सीसी के छह सिद्धांत
  • सीसी की कमियों
  • सीसी को प्रभावी बनाने के उपाय
  • सेवोत्तम मॉडल

पारदर्शिता के पहलू

जवाबदेही के तत्व और प्रकार

पारदर्शिता और जवाबदेही सुनिश्चित करने के लिए साधन

  • सूचना का अधिकार
  • सामाजिक परीक्षण
  • व्हिसलब्लोअर प्रोटेक्शन बिल
  • लोकपाल और लोकायुक्त अधिनियम
15. Important aspects of governance, transparency and accountability, e-governance- applications, models, successes, limitations and potential; citizens charters, transparency & accountability and institutional and other measures.

Important Aspects of Governance, Transparency & Accountability

Governance

  • Dimensions of Governance
  • Good Governance (GG)
  • Aspects of GG
  • Barriers to GG
  • Necessary Pre-conditions for GG
  • How to Ensure GG

E-Governance

  • Applications
  • Models
  • Successes
  • Limitations
  • Potential
  • Recent e-governance Initiatives by Government

Citizens Charters (CC)

  • Components of CC
  • Features of CC
  • Six Principles of CC
  • Shortcomings of CC
  • Measures to Make CC Effective
  • Sevottam Model

Aspects of Transparency

Elements & Types of Accountability

Means to ensure Transparency & Accountability

  • RTI
  • Social Audit
  • Whistleblower Protection Bill
  • Lokpal & Lokayuktas Act
16. लोकतंत्र में सिविल सेवाओं की भूमिका।

सिविल सेवा और लोकतंत्र के बीच संबंध

सिविल सेवा द्वारा निभाई गई भूमिका

  • नीति निर्धारण में सलाहकार भूमिका
  • सामाजिक-आर्थिक परिवर्तन को संस्थागत बनाना
  • डिस्चार्ज किए गए कार्य
  • भूमि का प्रशासन कानून
  • प्रहरी
  • राजनीतिक अस्थिरता के समय निरंतरता
  • रिकॉर्ड रखना
  • संचार का चैनल

भारतीय सिविल सेवा को प्रभावित करने वाली बीमारियाँ / मुद्दे

  • व्यावसायिकता और गरीब क्षमता निर्माण की कमी
  • अकुशल प्रोत्साहन प्रणाली
  • आउटडेटेड नियम और प्रक्रियाएं
  • पदोन्नति में प्रणालीगत विसंगतियां
  • पर्याप्त पारदर्शिता और जवाबदेही प्रक्रियाओं का अभाव
  • मनमाना और सनकी स्थानान्तरण
  • राजनीतिक हस्तक्षेप और प्रशासनिक अधिग्रहण
  • मूल्यों और नैतिकता में क्रमिक क्षरण
  • Redtapism
  • प्रकृति में योग्य
  • गरीब का वेतन
  • सत्ता पर कब्जा करने की प्रवृत्ति

लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए नौकरशाही का सुधार

  • बिजली की विषमता का अधिकार स्थापित करना
  • असैनिक राजनीतिक हस्तक्षेप से सिविल सेवकों को इन्सुलेट करना
  • कार्यकाल और प्रतियोगिता की स्थिरता के साथ व्यावसायिकता
  • सिटीजन-सेंट्रिक एडमिनिस्ट्रेशन
  • जवाबदेही
  • आउटकम ओरिएंटेशन
  • लोक सेवा मूल्यों और नैतिकता को बढ़ावा देना
16. Role of civil services in a democracy.

Role of Civil Services in a Democracy

Relationship Between Civil Service And Democracy

Role Played By Civil Services

  • Advisory Role in Policy Making
  • Institutionalise Socio-economic change
  • Discharge Delegated Functions
  • Administer Law of the Land
  • Watchdogs
  • Continuity in times of Political Instability
  • Record-Keeping
  • Channel of Communication

Ailments/Issues Afflicting Indian Civil Services

  • Lack of Professionalism & Poor Capacity Building
  • Inefficient Incentive Systems
  • Outdated Rules & Procedures
  • Systemic Inconsistencies in Promotion
  • Lack of Adequate Transparency & Accountability Procedures
  • Arbitrary & Whimsical Transfers
  • Political Interference & Administrative Acquiescence
  • Gradual Erosion in Values & Ethics
  • Redtapism
  • Elitist in Nature
  • Poor Pay
  • Tendency to Capture Power

Reforming Bureaucracy to Strengthen Democracy

  • Setting Right the Asymmetry of Power
  • Insulating Civil Servants from Undue Political Interference
  • Professionalisation with Stability of Tenure & Competition
  • Citizen-Centric Administration
  • Accountability
  • Outcome Orientation
  • Promoting Public Service Values & Ethics
17. भारत एवं इसके पड़ोसी- संबंध।

भारत के साथ संबंध

  • चीन
  • पाकिस्तान
  • म्यांमार
  • भूटान
  • बांग्लादेश
  • श्री लंका
  • अफ़ग़ानिस्तान
  • नेपाल
  • मालदीव
17. India and its neighborhood- relations.

India and its Neighborhood – Relations

India’s Relations With

  • China
  • Pakistan
  • Myanmar
  • Bhutan
  • Bangladesh
  • Sri Lanka
  • Afghanistan
  • Nepal
  • Maldives
18. द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक समूह और भारत से संबंधित और/अथवा भारत के हितों को प्रभावित करने वाले करार।

1947 से भारत की प्रमुख विदेश नीति सिद्धांत

  • गुटनिरपेक्ष आंदोलन (NAM)
  • परमाणु सिद्धांत
  • गुजराल सिद्धांत
  • एक्ट ईस्ट को देखो
  • वेस्ट सोचो, आदि।

द्विपक्षीय संबंध

  • प्रमुख शक्तियां जैसे – यूएसए, रूस, जापान
  • मध्य एशियाई देश
  • पश्चिम एशियाई देश
  • अफ्रीकी देश
  • ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड
  • यूरोपीय संघ और यूरोपीय देशों
  • लैटिन अमेरिकी देशों
  • प्रशांत देश

क्षेत्रीय और वैश्विक समूह

  • सार्क
  • ब्रिक्स
  • BBIN और BCIM
  • बिम्सटेक
  • IBSA
  • आसियान और RCEP
  • भारत-अफ्रीका मंच
  • एससीओ
  • अश्गाबात समझौता
  • FIPIC
  • आईओआर-एआरसी
  • मेकांग गंगा सहयोग (MGC)
  • रायसीना संवाद
  • एशिया सम्मेलन का दिल
  • पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन
  • जी -20
  • एशियाई विकास बैंक
  • राष्ट्रीय सुरक्षा शिखर सम्मेलन
  • बहुपक्षीय परमाणु निर्यात नियामक नियम: वासेनार, एमटीसीआर, ऑस्ट्रेलिया समूह
  • एशियाई विकास बैंक
  • APEC, आदि
18. Bilateral, regional and global groupings and agreements involving India and/or affecting India’s interests.

Bilateral, Regional & Global Groupings & Agreements Involving India and/or Affecting India’s Interests

India’s Major Foreign Policy Doctrines Since 1947

  • Non-aligned Movement (NAM)
  • Nuclear Doctrine
  • Gujral Doctrine
  • Look East to Act East
  • Think West, etc.

Bilateral Relations With

  • Major Powers Like – USA, Russia, Japan
  • Central Asian Countries
  • West Asian Countries
  • African Countries
  • Australia & New Zealand
  • EU & European Countries
  • Latin American Countries
  • Pacific Countries

Regional & Global Groupings

  • SAARC
  • BRICS
  • BBIN & BCIM
  • BIMSTEC
  • IBSA
  • ASEAN & RCEP
  • India-Africa Forum
  • SCO
  • Ashgabat Agreement
  • FIPIC
  • IOR-ARC
  • Mekong Ganga Cooperation (MGC)
  • Raisina Dialogue
  • Heart of Asia Conference
  • East Asia Summit
  • G-20
  • Asian Development Bank
  • National Security Summit
  • Multilateral Nuclear Export Regulatory Regimes: Wassenar, MTCR, Australia Group
  • Asian Development Bank
  • APEC, etc
19. भारत के हितों पर विकसित तथा विकासशील देशों की नीतियों तथा राजनीति का प्रभाव; प्रवासी भारतीय।

भारत के हितों पर विकसित और विकासशील देशों की नीतियों और राजनीति का प्रभाव

  • वन बेल्ट वन रोड
  • अंतर्राष्ट्रीय उत्तर-दक्षिण परिवहन गलियारा
  • वैश्विक व्यापार युद्ध
  • वैश्विक मुद्रा युद्ध
  • सीरियाई संकट
  • संयुक्त राष्ट्र सुधार
  • विश्व व्यापार संगठन सुधार
  • दक्षिण चीन सागर संघर्ष
  • Brexit
  • परित्याग और संरक्षणवाद – ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध, पेरिस समझौते से यूएस पुलआउट, एच -1 बी वीजा मुद्दा आदि।
  • ओपेक तेल की कीमतें हेरफेर, आदि।

भारतीय प्रवासी

  • भारतीय प्रवासी का प्रसार
  • भारत की प्रवासी नीति और सगाई की पहल
    • ओसीआई
    • प्रवासी भारतीय दिवस
    • भारत कार्यक्रम आदि को जानें।
  • प्रवासी भारतीयों पर एलएम सिंघवी उच्च स्तरीय समिति
  • भारतीय डायस्पोरा द्वारा निभाई गई भूमिका
  • प्रवासी भारतीयों के संबंध में मुद्दे:
    • दोहरी नागरिकता
    • प्रेषण, आदि।
19. Effect of policies and politics of developed and developing countries on India’s interests, Indian diaspora.

Effect of Policies & Politics of Developed & Developing Countries on India’s Interests

  • One Belt One Road
  • International North–South Transport Corridor
  • Global Trade War
  • Global Currency War
  • Syrian Crisis
  • UN Reforms
  • WTO Reforms
  • South China Sea Conflict
  • Brexit
  • Deglobalisation & Protectionism – US Sanctions on Iran, US Pullout from Paris Agreement, H-1B Visa Issue etc.
  • OPEC Oil Prices Manipulation, etc.

Indian Diaspora

  • Spread of Indian Diaspora
  • India’s Diaspora Policy & Engagement Initiatives
    • OCI
    • Pravasi Bharatiya Divas
    • Know India Programme, etc.
  • LM Singhvi High Level Committee on the Diaspora
  • Role played by Indian Diaspora
  • Issues Concerning the Diaspora:
    • Dual Nationality
    • Remittances, etc.
20. महत्त्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थान, संस्थाएँ और मंच- उनकी संरचना, अधिदेश।

महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थाएँ

  • संयुक्त राष्ट्र और इसकी एजेंसियां
  • विश्व व्यापार संगठन
  • विश्व बैंक
  • अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष
  • विश्व आर्थिक मंच
  • राष्ट्रों का राष्ट्रमंडल, आदि।
20. Important International institutions, agencies and fora- their structure, mandate.

Important International Institutions

  • UN & its Agencies
  • WTO
  • World Bank
  • IMF
  • World Economic Forum
  • Commonwealth of Nations, etc.

प्रश्नपत्र-4

सामान्य अध्ययन प्रश्नप्रत्र-3
प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा तथा आपदा प्रबंधन
GS-Paper 3
Technology, Economic Development, Bio- diversity, Environment, Security & Disaster Management
क्र.सं. विषय S.No. Topic
1. भारतीय अर्थव्यवस्था तथा योजना, संसाधनों को जुटाने, प्रगति, विकास तथा रोज़गार से संबंधित विषय।

योजना

  • योजना का अर्थ
  • आर्थिक विकास में योजना की आवश्यकता
  • इंपीरियल बनाम। सांकेतिक बनाम। संरचनात्मक योजना
  • योजना का उद्देश्य
  • भारतीय नियोजन इतिहास
  • भारतीय योजना की तकनीक
  • भारतीय योजना की उपलब्धियां और विफलताएं
  • भारत में योजना की कमियों
  • NITI Aayog Vs. योजना आयोग

संसाधनों का जुटाव

  • संसाधन के प्रकार – वित्तीय, मानव, प्राकृतिक आदि।
  • संसाधन जुटाने की आवश्यकता
  • बचत और निवेश की भूमिका
  • सरकारी संसाधन – कर और गैर-कर (या राजकोषीय और मौद्रिक नीति)
  • बैंकिंग सेक्टर और एनबीएफसी
  • पूंजी बाजार
  • बाहरी स्रोत – FDI, ODA आदि।
  • सार्वजनिक ऋण और सार्वजनिक ऋण का प्रबंधन
  • विकास के लिए संसाधन जुटाने में चुनौतियां
  • जो कदम उठाए जा सकते हैं

विकास और विकास

  • विकास और विकास का अर्थ
  • विकास और विकास के बीच अंतर
  • विकास और विकास के निर्धारक
  • आर्थिक विकास का महत्व और सीमाएँ
  • बेरोजगार विकास
  • प्रो-पुअर ग्रोथ
  • संतुलित और असंतुलित विकास
  • विकास के आयाम
  • मापन और विकास के संकेतक
  • विकास के दृष्टिकोण:
    • बाजार आधारित दृष्टिकोण
    • राज्य और नियोजित दृष्टिकोण की भूमिका
    • मिश्रित अर्थव्यवस्था दृष्टिकोण
  • विकास और विकास को चुनौती

रोज़गार

  • प्रकृति – ग्रामीण बनाम शहरी, औपचारिक बनाम। अनौपचारिक
  • रोजगार से संबंधित शर्तें – श्रम बल भागीदारी दर, रोजगार दर, कार्य आयु जनसंख्या आदि।
  • रोजगार का क्षेत्रीय वितरण
  • रोजगार की गुणवत्ता
  • रोजगार की कमी के कारण
  • कार्यबल का पुनर्गठन
  • रोजगार सृजन के लिए सरकारी पहल
1. Indian Economy and issues relating to planning, mobilization of resources, growth, development and employment.

Indian Economy & Issues Relating to Planning, Mobilization of Resources, Growth, Development & Employment

Planning

  • Meaning of Planning
  • Need for Planning in Economic Development
  • Imperative Vs. Indicative Vs. Structural Planning
  • Objectives of Planning
  • Indian Planning History
  • Techniques of Indian Planning
  • Achievements & Failures of Indian Planning
  • Shortcomings of Planning in India
  • NITI Aayog Vs. Planning Commission

Mobilisation of Resources

  • Types of Resources – Financial, Human, Natural etc.
  • Need for Resource Mobilisation
  • Role of Savings & Investment
  • Government Resources – Tax & Non-Tax ( or Fiscal & Monetary Policy)
  • Banking Sector & NBFCs
  • Capital Market
  • External Sources – FDI, ODA etc.
  • Public Borrowing & Management of Public Debt
  • Challenges in Mobilising Resources for Development
  • Steps That Can Be Taken

Growth & Development

  • Meaning of Development & Growth
  • Difference between Development & Growth
  • Determinants of Growth & Development
  • Importance & Limitations of Economic Growth
  • Jobless Growth
  • Pro-Poor Growth
  • Balanced & Unbalanced Growth
  • Dimensions of Development
  • Measurement & Indicators of Development
  • Approaches to Development:
    • Market-Based Approach
    • Role of State and Planned Approach
    • Mixed Economy Approach
  • Challenges to Development & Growth

Employment

  • Nature – Rural vs. Urban, Formal Vs. Informal
  • Terms Related to Employment – Labour Force Participation Rate, Employment Rate, Working Age Population etc.
  • Sectoral Distribution of Employment
  • Quality of Employment
  • Causes of Lack of Employment
  • Restructuring of Workforce
  • Government Initiatives for Generating Employment
2. समावेशी विकास तथा इससे उत्पन्न विषय।

  • समावेशी विकास क्या है?
  • समावेशी विकास के तत्व
  • समावेशी विकास की आवश्यकता
  • समावेशी विकास के संकेतक
  • भारत में समावेशी विकास में चुनौतियां
  • 12 वें FYP और समावेशी विकास
2. Inclusive growth and issues arising from it.

Inclusive Growth & Issues Arising From It

  • What is Inclusive Growth?
  • Elements of Inclusive Growth
  • Need for Inclusive Growth
  • Indicators of Inclusive Growth
  • Challenges in Achieveing Inclusive Growth in India
  • 12th FYP & Inclusive Growth
3. सरकारी बजट।

सरकारी बजट की आवश्यकता

सरकार के बजट के घटक

  • राजस्व खाता – राजस्व प्राप्तियां और राजस्व व्यय
  • पूंजी खाता – पूंजी प्राप्तियां और पूंजीगत व्यय

2017 में बजटीय प्रक्रिया में बदलाव

सरकारी घाटे के उपाय

  • राजस्व घाटा
  • राजकोषीय घाटा
  • प्राथमिक कमी

राजकोषीय नीति

कमी कमी

एफआरबीएम अधिनियम

अन्य प्रकार के बजट – परिणाम, शून्य-आधारित, आदि।

3. Government Budgeting.

Government Budgeting

Need for Government Budgeting

Components of the Government Budget

  • Revenue Account – Revenue Receipts & Revenue Expenditure
  • Capital Account – Capital Receipts & Capital Expenditure

Changes in Budgetary Process in 2017

Measures of Government Deficit

  • Revenue Deficit
  • Fiscal Deficit
  • Primary Deficit

Fiscal Policy

Deficit Reduction

FRBM Act

Other Types of Budgets – Outcome, Zero-Based, etc.

4. मुख्य फसलें- देश के विभिन्न भागों में फसलों का पैटर्न- सिंचाई के विभिन्न प्रकार एवं सिंचाई प्रणाली– कृषि उत्पाद का भंडारण, परिवहन तथा विपणन, संबंधित विषय और बाधाएँ; किसानों की सहायता के लिये ई-प्रौद्योगिकी।

देश के विभिन्न भागों में प्रमुख फसलें

  • फसल पैटर्न का महत्व
  • फसल पैटर्न के प्रकार
  • कारण क्रॉपिंग पैटर्न अंतर
  • फ़सलिंग पैटर्न को प्रभावित करने वाले कारक
  • क्रॉपिंग पैटर्न में उभरते रुझान
  • क्रॉपिंग पैटर्न में करंट ट्रेंड के लॉन्ग-रन इफेक्ट

सिंचाई और सिंचाई प्रणाली भंडारण के विभिन्न प्रकार

  • सिंचाई के साधन
  • सिंचाई के स्रोत
  • एक सिंचाई प्रणाली का चयन
  • सिंचाई से जुड़ी समस्याएं
  • पंचवर्षीय योजनाओं के तहत सिंचाई की प्रगति
  • सिंचाई के पर्यावरणीय प्रभाव
  • प्रणालीगत सिंचाई सुधार की आवश्यकता
  • राष्ट्रीय जल नीति की आवश्यकता

कृषि उत्पादन और मुद्दों और संबंधित बाधाओं का परिवहन और विपणन

  • कृषि विपणन की प्रक्रिया – विपणन चैनल, कार्य, लागत, आदि।
  • एफसीआई की भूमिका
  • विनियमित बाजार
  • भण्डारण
  • सहकारी विपणन
  • वर्तमान कृषि विपणन प्रक्रिया की कमियां
  • APMCs
  • राष्ट्रीय कृषि बाजार (NAM)
  • किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ)
  • अनुबंध खेती
  • वायदा कारोबार कृषि जिंसों में

किसानों की सहायता के लिये ई-प्रौद्योगिकी।

4. Major crops – cropping patterns in various parts of the country, different types of irrigation and irrigation systems – storage, transport and marketing of agricultural produce and issues and related constraints; e-technology in the aid of farmers.

Major Crops Cropping Patterns in Various Parts of the Country

  • Importance of Cropping Pattern
  • Types of Cropping Pattern
  • Reasons Why Cropping Pattern Differ
  • Factors Influencing Cropping Pattern
  • Emerging Trends in Cropping Pattern
  • Long-Run Effects of Current Trends in Cropping Pattern

Different Types of Irrigation & Irrigation Systems Storage

  • Modes of Irrigation
  • Sources of Irrigation
  • Choosing an Irrigation System
  • Problems Associated with Irrigation
  • Progress of Irrigation Under Five Year Plans
  • Environmental Effects of Irrigation
  • Need for Systemic Irrigation Reforms
  • Need for a National Water Policy

Transport & Marketing of Agricultural Produce & Issues & Related Constraints

  • Process of Agricultural Marketing – Marketing Channels, Functionaries, Costs, etc.
  • Role of FCI
  • Regulated Markets
  • Warehousing
  • Cooperative Marketing
  • Shortcomings of Current Agricultural Marketing Process
  • APMCs
  • National Agricultutral Market (NAM)
  • Farmer Producer Organisations (FPO)
  • Contract Farming
  • Futures Trading in Agricultural Commodities

E-Technology in the Aid of Farmers, Technology Missions

5. प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष कृषि सहायता तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य से संबंधित विषय; जन वितरण प्रणाली- उद्देश्य, कार्य, सीमाएँ, सुधार; बफर स्टॉक तथा खाद्य सुरक्षा संबंधी विषय; प्रौद्योगिकी मिशन; पशु पालन संबंधी अर्थशास्त्र

प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष फार्म सब्सिडी और न्यूनतम समर्थन मूल्य से संबंधित मुद्दे

  • कृषि मूल्य नीति
  • सब्सिडी के लिए तर्क
  • सब्सिडी के प्रकार
  • प्रभावशीलता, विस्तार और सब्सिडी की समस्याएं
  • विश्व व्यापार संगठन समझौतों के साथ संघर्ष

सार्वजनिक वितरण प्रणाली के उद्देश्य, कार्य, सीमाएँ, सुधार

  • Objectices / महत्व
  • फंक्शनिंग – उचित मूल्य की दुकानें, एफसीआई, राशन कार्ड, आधार लिंकिंग, आदि।
  • कमियों या समस्याओं को पीडीएस के साथ जोड़ा
  • पीडीएस के कामकाज में सुधार की जरूरत है
  • पीडीएस के साथ जुड़े लूपहोल्स और लैकुनेस में सुधार के उपाय
  • इस संबंध में शासन द्वारा उठाए गए कदम

बफर स्टॉक और खाद्य सुरक्षा के मुद्दे

  • बफर स्टॉक – भारत में उद्देश्य और मानदंड
  • सरकारी खरीद और वितरण का प्रभाव
  • खाद्य सुरक्षा की आवश्यकता
  • NFSM और othe खाद्य सुरक्षा वास्तविक सरकारी पहल

पशु-पालन का अर्थशास्त्र

5. Issues related to direct and indirect farm subsidies and minimum support prices; Public Distribution System- objectives, functioning, limitations, revamping; issues of buffer stocks and food security; Technology missions; economics of animal-rearing.

Issues Related to Direct & Indirect Farm Subsidies & Minimum Support Prices

  • Agricultural Pricing Policy
  • Rationale for Subsidies
  • Types of Subsidies
  • Effectiveness, Extent & Problems of Subsisies
  • Clash with WTO Agreements

Public Distribution System Objectives, Functioning, Limitations, Revamping

  • Objectices/Significance
  • Functioning – Fair Price Shops, FCI, Ration Cards, Aadhar Linking, etc.
  • Shortcomings or Problems Associated with PDS
  • Need to Improve the Working of PDS
  • Measures to Improve the Loopholes & Lacunaes Associated with PDS
  • Steps Taken by Governement in this Regard

Issues of Buffer Stocks & Food Security

  • Buffer Stock – Objectives & Norms in India
  • Impact of Government Procurement & Distribution
  • Need for Food Security
  • NFSM And othe Food Security Realted Government Initiatives

Economics of Animal-Rearing

6. भारत में खाद्य प्रसंस्करण एवं संबंधित उद्योग- कार्यक्षेत्र एवं महत्त्व, स्थान, ऊपरी और नीचे की अपेक्षाएँ, आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन।

भारत में खाद्य प्रसंस्करण और संबंधित उद्योग

  • भारत में स्कोप और संभावित
  • महत्व
  • स्थान
  • अड़चनें और चुनौतियां
  • अपस्ट्रीम और डाउनस्ट्रीम आवश्यकताएँ
  • आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन
  • सरकारी नीतियां और पहल – SAMPADA, 12 वीं FYP इत्यादि।
6. Food processing and related industries in India- scope and significance, location, upstream and downstream requirements, supply chain management.

Food Processing & Related Industries in India

  • Scope & Potential in India
  • Significance
  • Location
  • Constraints and Challenges
  • Upstream & Downstream Requirements
  • Supply Chain Management
  • Government Policies and Initiatives – SAMPADA, 12th FYP, etc.
7. भारत में भूमि सुधार।

  • भूमि सुधार के लिए तर्क
  • भूमि सुधार के घटक
  • भूमि सुधार का प्रभाव
  • भूमि सुधार के कार्यान्वयन में समस्याएं
  • भूमि सुधार की सफलता
  • हाल की पहल – भूमि पट्टे, भूमि अधिग्रहण, पुनर्वास और पुनर्वास अधिनियम, आदि।
7. Land reforms in India.

Land Reforms in India

  • Rationale for Land Reforms
  • Components of Land Reforms
  • Impact of Land Reforms
  • Problems in Implementaion of Land Reforms
  • Success of Land Reforms
  • Recent Initiatives – Land Leasing, Land Acquisition, Rehabilitation & Resettlement Act, etc.
8. उदारीकरण का अर्थव्यवस्था पर प्रभाव, औद्योगिक नीति में परिवर्तन तथा औद्योगिक विकास पर इनका प्रभाव।

अर्थव्यवस्था पर उदारीकरण के प्रभाव

  • उदारीकरण का दौर
  • अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों पर प्रभाव

औद्योगिक नीति में परिवर्तन और औद्योगिक विकास पर उनके प्रभाव

  • 1991 से पहले की औद्योगिक नीति
  • 1991 के बाद औद्योगिक नीति
  • औद्योगिक विकास के चरण
  • आर्थिक सुधारों और आर्थिक परिणामों के बीच संबंध
  • कमजोरियाँ और औद्योगिक नीतियों की विफलताएँ
  • राष्ट्रीय विनिर्माण नीति
  • सेज
  • मेक इन इंडिया
8. Effects of liberalization on the economy, changes in industrial policy and their effects on industrial growth.

Effects of Liberalization on the Economy

  • Phase of Liberalisation
  • Impact on Different Sectors of the Economy

Changes In Industrial Policy & their Effects on Industrial Growth

  • Industrial Policy Before 1991
  • Industrial Policy After 1991
  • Phases of Industrial Growth
  • Linkage Between Economic Reforms and Economic Outcomes
  • Weaknesses and Failures of Industrial Policies
  • National Manufacturing Policy
  • SEZs
  • Make in India
9. बुनियादी ढाँचाः ऊर्जा, बंदरगाह, सड़क, विमानपत्तन, रेलवे आदि।

9. Infrastructure: Energy, Ports, Roads, Airports, Railways,  etc.

Infrastructure

  • Energy
  • Ports & Inland Waterways
  • Roads
  • Airports
  • Railways
10. निवेश मॉडल।

निवेश की आवश्यकता

निवेश के स्रोत

निवेश मॉडल के प्रकार

  • घरेलू निवेश मॉडल
    • सार्वजनिक निवेश मॉडल
    • निजी निवेश मॉडल
    • सार्वजनिक निजी भागीदारी निवेश मॉडल
  • विदेशी निवेश मॉडल:
    • प्रत्यक्ष विदेशी निवेश
    • एफआईआई, आदि।
  • सेक्टर विशिष्ट निवेश मॉडल
  • क्लस्टर आधारित निवेश मॉडल

भारत द्वारा निवेश किए गए मॉडल

10. Investment models.

Investment Models

Need for Investment

Sources of Investment

Types of Investment Models

  • Domestic Investment Models
    • Public Investment Model
    • Private Investment Model
    • Public Private Participation Investment Model
  • Foreign Investment Models:
    • FDI
    • FII, etc.
  • Sector Specific Investment Models
  • Cluster Based Investment Models

Investment Models Followed by India

11. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी- विकास एवं अनुप्रयोग और रोज़मर्रा के जीवन पर इसका प्रभाव।

 

भोजन में रसायन

  • आर्टिफिशियल स्वीटनिंग एजेंट
  • खाद्य संरक्षक

ड्रग्स

  • एंटासिड
  • एंटिहिस्टामाइन्स
  • न्यूरोलॉजिकल रूप से सक्रिय ड्रग्स
    • प्रशांतक
    • दर्दनाशक
  • antimicrobials
    • एंटीबायोटिक्स
    • एंटीसेप्टिक और कीटाणुनाशक
    • एंटी-फर्टिलिटी ड्रग्स, आदि।

सफाई करने वाले एजेंट

  • साबुन
  • सिंथेटिक डिटर्जेंट

कांच

जल को निर्मल बनाने वाला

जल शोधन / कीटाणुशोधन

माइक्रोवेव ओवन, आदि।

11. Science and Technology- developments and their applications and effects in everyday life.

Developments & their Applications & Effects in Everyday Life

Chemicals in Food

  • Artificial Sweetening Agents
  • Food Preservatives

Drugs

  • Antacid
  • Antihistamines
  • Neurologically Active Drugs
    • Tranquilizers
    • Analgesics
  • Antimicrobials
    • Antibiotics
    • Antiseptic and Disinfectant
    • Anti-Fertility Drugs, etc.

Cleansing Agents

  • Soaps
  • Synthetic detergents

Glass

Water Softener

Water Purification/Disinfection

Microwave Oven, etc.

12. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में भारतीयों की उपलब्धियाँ; देशज रूप से प्रौद्योगिकी का विकास और नई प्रौद्योगिकी का विकास।

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में भारतीयों की उपलब्धियाँ

  • चंद्रशेखर वेंकट रमन
  • आचार्य जगदीश चंद्र बोस
  • सत्येंद्र नाथ बोस
  • मेघनाद साहा
  • होमी जहांगीर भाभा
  • सुब्रह्मण्यन चंद्रशेखर
  • ए पी जे अब्दुल कलाम
  • विक्रम साराभाई
  • मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया
  • हर गोबिंद खोराना
  • टेसी थॉमस
  • सीएनआर राव

देशज रूप से प्रौद्योगिकी का विकास और नई प्रौद्योगिकी का विकास।

  • आईटी और कंप्यूटर
  • अंतरिक्ष
  • नैनो
  • जैव प्रौद्योगिकी

 

12. Achievements of Indians in Science & Technology; indigenization of technology and developing new technology.

Achievements of Indians in Science & Technology

  • Chandrasekhara Venkata Raman
  • Acharya Jagadish Chandra Bose
  • Satyendra Nath Bose
  • Meghnad Saha
  • Homi Jehangir Bhabha
  • Subrahmanyan Chandrasekhar
  • A.P.J. Abdul Kalam
  • Vikram Sarabhai
  • Mokshagundam Visvesvaraya
  • Har Gobind Khorana
  • Tessy Thomas
  • C.N.R. Rao

Indigenization of Technology & Developing New Technology

  • IT & Computers
  • Space
  • Nanotechnology
  • Biotechnology
  • Robotics
  • Defence
  • Nuclear
13. सूचना प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष, कंप्यूटर, रोबोटिक्स, नैनो-टैक्नोलॉजी, बायो-टैक्नोलॉजी और बौद्धिक संपदा अधिकारों से संबंधित विषयों के संबंध में जागरुकता।

विभिन्न क्षेत्रों में जागरूकता

  • आईटी और कंप्यूटर
  • अंतरिक्ष
  • नैनो
  • जैव प्रौद्योगिकी
  • रोबोटिक
  • रक्षा
  • नाभिकीय

बौद्धिक संपदा अधिकारों से संबंधित मुद्दे

  • बौद्धिक संपदा अधिकारों की आवश्यकता
  • IPR के प्रकार
  • भारत में आईपीआर शासन
  • आईपीआर से संबंधित अंतर्राष्ट्रीय समझौते
  • भौगोलिक संकेतक
  • हाल के मुद्दे – सदाबहार, अनिवार्य लाइसेंस, प्रमुख मामले आदि।
13. Awareness in the fields of IT, Space, Computers, robotics, nano-technology, bio-technology and issues relating to intellectual property rights.

Awareness in Different Fields

  • IT & Computers
  • Space
  • Nanotechnology
  • Biotechnology
  • Robotics
  • Defence
  • Nuclear

Issues Relating to Intellectual Property Rights

  • Need for Intellectual Property Rights
  • Types of IPR
  • IPR Regime in India
  • International Agreements Related to IPRs
  • Geographical Indicators
  • Recent Issues – Evergreening, Compuslory Licensing, Prominent Cases etc.
14. संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण और क्षरण, पर्यावरण प्रभाव का आकलन।

जैव विविधता और पर्यावरण

  • जैव विविधता क्या है?
  • जैव विविधता के प्रकार – आनुवंशिक, प्रजाति, पारिस्थितिकी तंत्र, आदि।
  • बायोडीवर्स तीस का महत्व – इकोसिस्टम सेवा, आर्थिक महत्व के जैव संसाधन, सामाजिक लाभ आदि।
  • जैव विविधता के नुकसान के लिए पुनर्जीवन

संरक्षण

  • इन-सीटू और पूर्व-सीटू
  • इको सेंसिटिव एरिया
  • पारिस्थितिक आकर्षण के केंद्र
  • राष्ट्रीय दिशानिर्देश, विधान और अन्य कार्यक्रम।
  • अंतर्राष्ट्रीय समझौते और समूह

पर्यावरण प्रदूषण और गिरावट

प्रदूषण और प्रदूषकों के प्रकार

प्रदूषण और गिरावट का प्रभाव

  • ओजोन परत की कमी और ओजोन छेद
  • ग्रीनहाउस गैस प्रभाव और ग्लोबल वार्मिंग
  • eutrophication
  • मरुस्थलीकरण
  • अम्ल वर्षा
  • खतरनाक अपशिष्ट, आदि।

प्रदूषण और गिरावट के कारण / स्रोत

प्रदूषण और गिरावट की रोकथाम और नियंत्रण

राष्ट्रीय पर्यावरण एजेंसियां, विधान और नीतियां

अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण एजेंसियां ​​और समझौते

पर्यावरण प्रभाव आकलन (ईआईए)

  • ईआईए क्या है?
  • भारतीय दिशानिर्देश और विधान
  • ईआईए प्रक्रिया
  • ईआईए की आवश्यकता और लाभ
  • भारत में ईआईए की कमियां
  • ईआईए को प्रभावी बनाने के उपाय
14. Conservation, environmental pollution and degradation, environmental impact assessment.

Biodiversity

  • What is Biodiversity?
  • Types of Biodiversity – Genetic, Species, Ecosystem, etc.
  • Importance of Biodivesirty – Ecosystem Services, Bio Resources of Economic Importance, Social Benefits etc.
  • Resasons for Loss of Biodiversity

Conservation

  • In-situ & Ex-Situ
  • Eco-Sensitive Areas
  • Ecological Hotspots
  • National Guidelines, Legislations & Other Programmes.
  • International Agreements & Groupings

Environmental Pollution & Degradation

  • Types of Pollution & Pollutants
  • Impact of Pollution & Degradation
    • Ozone Layer Depletion and Ozone Hole
    • Greenhouse Gas Effect & Global Warming
    • Eutrophication
    • Desertification
    • Acid Rain
    • Hazardous Waste, etc.
  • Causes/Sources of Pollution & Degradation
  • Prevention & Control of Pollution & Degradation
  • National Environment Agencies, Legislations and Policies
  • International Environment Agencies & Agreements

Environmental Impact Assessment (EIA)

  • What is EIA?
  • Indian Guidelines & Legislations
  • EIA Process
  • Need & Benefits of EIA
  • Shortcomings of EIA in India
  • Measures to Make EIA Effective
15. आपदा और आपदा प्रबंधन।

आपदा प्रबंधन

  • आपदाओं के प्रकार
  • आपदाओं का प्रबंधन
  • सामुदायिक स्तर पर आपदा प्रबंधन
  • आपदा प्रबंधन पर शासन की पहल
15. Disaster and disaster management.

Disaster Management

  • Types of Disasters
  • Management of Disasters
  • Community Level Disaster Management
  • Governement Initiatives on Disaster Management
16. विकास और फैलते उग्रवाद के बीच संबंध।

चरमपंथ के विकास और प्रसार के बीच संबंध

  • चरमपंथ के प्रसार के लिए जिम्मेदार कारक
  • अविकसितता की वजह से राज्य जो चरमपंथ के फैलाव को कम करने के लिए ले जा सकते हैं
  • नक्सलवाद
16. Linkages between development and spread of extremism.

Linkages Between Development & Spread of Extremism

  • Factors Responsible for Spread of Extremism
  • Steps that State can Taken to Reduce the Spread of Extremism due to Underdevelopment
  • Naxalism
17. आंतरिक सुरक्षा के लिये चुनौती उत्पन्न करने वाले शासन विरोधी तत्त्वों की भूमिका।

आंतरिक सुरक्षा को चुनौती बनाने में बाहरी राज्य और गैर-राज्य अभिनेताओं की भूमिका

गैर-राज्य अभिनेताओं से धमकी

  • जम्मू और कश्मीर अलगाववाद
  • वाम विंग अतिवाद
  • उत्तर पूर्व उग्रवाद
  • हंटरलैंड और सीमावर्ती क्षेत्रों में आतंकवाद
  • राइट विंग आतंकवाद

आतंकवाद फैलाने का कारण

राज्य प्रायोजित आतंकवाद

आंतरिक सुरक्षा से निपटने के लिए संस्थागत ढांचा

  • एनआईए
  • NATGRID
  • मैक
  • यूएपीए
  • टाडा
  • पोटा
  • एनसीटीसी
17. Role of external state and non-state actors in creating challenges to internal security.

Role of External State & Non-State Actors in Creating Challenges to Internal Security

Threats from Non-State Actors

  • J&K Separatism
  • Left Wing Extremism
  • North East Insurgency
  • Terrorism in Hinterland & Border Areas
  • Right Wing Terrorism

Reasons for Spread of Terrorism

State Sponsored Terrorism

Institutional Framework to Tackle Challenge of Internal Security

  • NIA
  • NATGRID
  • MAC
  • UAPA
  • TADA
  • POTA
  • NCTC
18. संचार नेटवर्क के माध्यम से आंतरिक सुरक्षा को चुनौती, आंतरिक सुरक्षा चुनौतियों में मीडिया और सामाजिक नेटवर्किंग साइटों की भूमिका, साइबर सुरक्षा की बुनियादी बातें, धन-शोधन और इसे रोकना।

संचार नेटवर्क के माध्यम से आंतरिक सुरक्षा को चुनौती

  • आंतरिक सुरक्षा चुनौतियों में मीडिया और सामाजिक नेटवर्किंग साइटों की भूमिका
  • सोशल मीडिया के प्रबंधन में चुनौतियां
  • जो कदम उठाए जा सकते हैं

साइबर सुरक्षा की मूल बातें

  • साइबर सुरक्षा
  • भारतीय साइबर सुरक्षा को धमकी
  • भारत द्वारा उठाए गए कदम
  • साइबर सुरक्षा पर अंतर्राष्ट्रीय सहयोग
  • सायबर युद्ध
  • साइबर सुरक्षा के साथ संबद्ध शर्तें

मनी-लॉन्ड्रिंग और इसकी रोकथाम

  • मनी लॉन्ड्रिंग की प्रक्रिया
  • मनी लॉन्ड्रिंग का असर
  • पैसे की लूट से निपटने के लिए चुनौती
  • काउंटर मनी लॉन्ड्रिंग के कदम
  • मनी लॉन्ड्रिंग से संबंधित शर्तें

 

18. Challenges to internal security through communication networks, role of media and social networking sites in internal security challenges, basics of cyber security; money-laundering and its prevention.

Challenges to Internal Security Through Communication Networks

  • Role of Media & Social Networking Sites in Internal Security Challenges
  • Challenges in Managing Social Media
  • Steps That can be Taken

Basics of Cyber Security

  • Cyber Security
  • Threats to Indian Cyber Security
  • Steps taken by India
  • International Cooperation on Cyber Security
  • Cyber Warfare
  • Terms Associated with Cyber Security

Money-Laundering & its Prevention

  • Process of Money Laundering
  • Impact of Money Laundering
  • Challenges to Tackle Money Laundering
  • Steps to Counter Money Laundering
  • Terms Related To Money Laundering
19. सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा चुनौतियाँ एवं उनका प्रबंधन- संगठित अपराध और आतंकवाद के बीच संबंध।

सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा चुनौतियां और उनका प्रबंधन

  • सीमा सुरक्षा प्रबंध में चुनौतियां – तटीय और स्थलीय
  • पड़ोसियों के साथ भूमि सीमा विवाद
  • सीमा क्षेत्र सुरक्षा प्रबंधन में भारत की नीति

आतंकवाद के साथ संगठित अपराध के संबंध

  • संगठित अपराध के प्रकार
  • संगठित अपराध को नियंत्रित करने में चुनौतियां
  • भारतीय संदर्भ – संगठित अपराध और आतंकवाद के बीच की कड़ी
19. Security challenges and their management in border areas; -linkages of organized crime with terrorism.

Security Challenges & their Management in Border Areas

  • Challenges in Managing Border Security – Coastal & Terrestrial
  • Land Boundary Disputes with Neighbours
  • India’s Policy in Border Area Security Management

Linkages of Organized Crime with Terrorism

  • Types of Organised Crime
  • Challenges in Controlling Organised Crime
  • Indian Context – Link between Organised Crime & Terrorism
20. विभिन्न सुरक्षा बल और संस्थाएँ तथा उनके अधिदेश।

विभिन्न सुरक्षा बलों और एजेंसियों और उनके जनादेश

  • केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल
  • केंद्रीय अर्धसैनिक बल
  • सुरक्षा और खुफिया एजेंसियां ​​- आईबी। आर एंड डब्ल्यूए, आदि।
20. Various Security forces and agencies and their mandate.

  • Central Armed Police Forces
  • Central Paramilitary Forces
  • Security & Intelligence Agencies – IB. R&WA, etc.

प्रश्नपत्र-5

सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र-4
नीतिशास्त्र, सत्यनिष्ठा और अभिरुचि
GS-Paper 4
Ethics, Integrity and Aptitude
इस प्रश्न-पत्र में ऐसे प्रश्न शामिल होंगे जो सार्वजनिक जीवन में उम्मीदवारों की सत्यनिष्ठा, ईमानदारी से संबंधित विषयों के प्रति उनकी अभिवृत्ति तथा उनके दृष्टिकोण तथा समाज से आचार-व्यवहार में विभिन्न मुद्दों तथा सामने आने वाली समस्याओं के समाधान को लेकर उनकी मनोवृत्ति का परीक्षण करेंगे। इन आयामों का निर्धारण करने के लिये प्रश्न-पत्र में किसी मामले के अध्ययन (केस स्टडी) का माध्यम भी चुना जा सकता है। मुख्य रूप से निम्नलिखित क्षेत्रों को कवर किया जाएगा। This paper will include questions to test the candidate’s attitude and approach to issues relating to integrity, probity in public life and his problem solving approach to various issues and conflicts faced by him in dealing with society. Questions may utilize the case study approach to determine these aspects. The following broad areas will be covered.
क्र.सं. विषय S.No. Topic
1. नीतिशास्त्र तथा मानवीय सह-संबंधः मानवीय क्रियाकलापों में नीतिशास्त्र का सार तत्त्व, इसके निर्धारक और परिणाम; नीतिशास्त्र के आयाम; निजी और सार्वजनिक संबंधों में नीतिशास्त्र, मानवीय मूल्य- महान नेताओं, सुधारकों और प्रशासकों के जीवन तथा उनके उपदेशों से शिक्षा; मूल्य विकसित करने में परिवार, समाज और शैक्षणिक संस्थाओं की भूमिका। 1. Ethics and Human Interface: Essence, determinants and consequences of Ethics in human actions; dimensions of ethics; ethics in private and public relationships. Human Values – lessons from the lives and teachings of great leaders, reformers and administrators; role of family, society and educational institutions in inculcating values.
2. अभिवृत्तिः सारांश (कंटेन्ट), संरचना, वृत्ति; विचार तथा आचरण के परिप्रेक्ष्य में इसका प्रभाव एवं संबंध; नैतिक और राजनीतिक अभिरुचि; सामाजिक प्रभाव और धारण। 2. Attitude: content, structure, function; its influence and relation with thought and behavior; moral and political attitudes; social influence and persuasion.
3. सिविल सेवा के लिये अभिरुचि तथा बुनियादी मूल्य- सत्यनिष्ठा, भेदभाव रहित तथा गैर-तरफदारी, निष्पक्षता, सार्वजनिक सेवा के प्रति समर्पण भाव, कमज़ोर वर्गों के प्रति सहानुभूति, सहिष्णुता तथा संवेदना। 3. Aptitude and foundational values for Civil Service – integrity, impartiality and non-partisanship, objectivity, dedication to public service, empathy, tolerance and compassion towards the weaker sections.
4. भावनात्मक समझः अवधारणाएँ तथा प्रशासन और शासन व्यवस्था में उनके उपयोग और प्रयोग। 4. Emotional intelligence-concepts, and their utilities and application in administration and governance.
5. भारत तथा विश्व के नैतिक विचारकों तथा दार्शनिकों के योगदान। 5. Contributions of moral thinkers and philosophers from India and world.
6. लोक प्रशासन में लोक/सिविल सेवा मूल्य तथा नीतिशास्त्रः स्थिति तथा समस्याएँ; सरकारी तथा निजी संस्थानों में नैतिक चिंताएँ तथा दुविधाएँ; नैतिक मार्गदर्शन के स्रोतों के रूप में विधि, नियम, विनियम तथा अंतरात्मा; उत्तरदायित्व तथा नैतिक शासन, शासन व्यवस्था में नीतिपरक तथा नैतिक मूल्यों का सुदृढ़ीकरण; अंतर्राष्ट्रीय संबंधों तथा निधि व्यवस्था (फंडिंग) में नैतिक मुद्दे; कॉरपोरेट शासन व्यवस्था। 6. Public/Civil service values and Ethics in Public administration: Status and problems; ethical concerns and dilemmas in government and private institutions; laws, rules, regulations and conscience as sources of ethical guidance; accountability and ethical governance; strengthening of ethical and moral values in governance; ethical issues in international relations and funding; corporate governance.
7. शासन व्यवस्था में ईमानदारीः लोक सेवा की अवधारणा; शासन व्यवस्था और ईमानदारी का दार्शनिक आधार, सरकार में सूचना का आदान-प्रदान और पारदर्शिता, सूचना का अधिकार, नीतिपरक आचार संहिता, आचरण संहिता, नागरिक घोषणा पत्र, कार्य संस्कृति, सेवा प्रदान करने की गुणवत्ता, लोक निधि का उपयोग, भ्रष्टाचार की चुनौतियाँ। 7. Probity in Governance: Concept of public service; Philosophical basis of governance and probity; Information sharing and transparency in government, Right to Information, Codes of Ethics, Codes of Conduct, Citizen’s Charters, Work culture, Quality of service delivery, Utilization of public funds, challenges of corruption.
8. उपर्युक्त विषयों पर मामला संबंधी अध्ययन (केस स्टडीज़)। 8. Case Studies on above issues.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *